scorecardresearch
 

बेटी बचाने का संदेश देने स्कूटी पर सवार होकर निकली एक बेटी

बेटी बचाओ अभि‍यान को जन-जन तक पहुंचाने के लिए भुवनेश्वर की ऋषि‍का ने एक बेहद अनूठा तरीका अपनाया है. उनकी यह पहल वाकई सराहनीय है.

X
ऋषि‍का साहू
ऋषि‍का साहू

बेटी बचाओ अभियान के प्रति लोगों में जागरूकता लाने के लिए भारत भ्रमण पर अपनी स्कूटी से निकली एक महिला आज प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंची. स्कूटी वुमन के नाम से मशहूर ऋषिका साहू ने वाराणसी के सीएचएस गर्ल्स इंटर कॉलेज में लड़कियों को इस अभियान के महत्व के बारे में बताया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' के नारे के साथ देश की बेटियों को बचाने के लिए संकल्पबद्ध हैं. ऋषि‍का 14 सितंबर को भुवनेश्वर से अपनी स्कूटी पर सवार होकर भारत भ्रमण के लिए निकली हैं.

उनका एकमात्र उद्देश्य बेटी बचाने और कन्या भ्रूण हत्या रोकने के प्रति लोगों को जागरुक करना है. ऋषिका 26 राज्यों की पंद्रह हजार किलोमीटर की यात्रा पूरी करके वाराणसी पहुंचीं. उनका अंतिम पड़ाव दिल्ली है.

13 दिसंबर को दिल्ली पहुंचकर वह अपनी यात्रा समाप्त करेंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें