scorecardresearch
 

गर्भवती महिलाओं को भी कोरोना वायरस से खतरा, WHO ने बताए बचाव के तरीके

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, एक गर्भवती महिला को कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए कुछ खास बातों का बारीकी से ख्याल रखना होगा.

कोरोना वायरस से बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं को भी काफी खतरा है. कोरोना वायरस से बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं को भी काफी खतरा है.

कोरोना वायरस से दुनियाभर में मरने वालों की संख्या 12,000 के पार हो चुकी है. भारत में कोरोना वायरस के अब तक कुल 334 मामले सामने आए हैं. कोरोना वायरस से बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं को भी काफी खतरा है. डब्ल्यूएचओ (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) ने कोरोना वायरस को लेकर गर्भवती महिलाओं को बचाव के कुछ जरूरी तरीके बताए हैं.

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, एक गर्भवती महिला को कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए कुछ खास बातों का बारीकी से ख्याल रखना होगा. ऐसा कर न सिर्फ आप सुरक्षित रहेंगी, बल्कि बच्चे की सेहत पर भी इसका बुरा असर नहीं होगा.

ये चार बातें रखें ध्यान

1. नियमित रूप से साबुन या सैनिटाइजर से हाथ धोते रहें.

2. आंख, मुंह या नाक पर हाथ लगाने से बचें.

3. अन्य लोगों से निश्चित दूरी बनाकर रखें.

4. खांसने या छींकने से पहले मुंह पर हाथ, टिश्यू या रुमाल जरूर रखें.

डब्ल्यूएचओ ने गर्भवती महिलाओं को सलाह दी है कि तेज बुखार, खांसी, जुकाम या सांस लेने में दिक्कत होने पर तुरंत मेडिकल जांच करवाएं. कोरोना वायरस के लक्षण दिखते ही करीब 2 हफ्ते तक खुद को आइसोलेट रखें. इससे आप, बच्चा और आपके आस-पास रहने वाले लोग सुरक्षित रहेंगे.

कोरोना वायरस से दुनिया भर में मरने वालों की संख्या 12,000 पार कर गई है. सबसे ज्यादा लोगों की मौत यूरोप में हुई है. इस जानलेवा वायरस के चलते यहां अब तक 7,199 लोगों की मौत हुई है. एशिया में 3459 लोगों की मौत हो गई है. इटली में पिछले 24 घंटों में लगभग 800 लोगों की मौत हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें