scorecardresearch
 

पति बढ़ाते हैं पत्नियों का काम

पुरुष बाहर के कामों की तरफ अधिक झुकाव रखते हैं, वहीं महिलाएं अधिक घरेलू श्रम करती हैं. उन्होंने बताया कि यह स्थिति बच्चों की मौजूदगी में अधिक बदतर हो जाती है.

पति की वजह से बढ़ जाता है पत्नी का काम पति की वजह से बढ़ जाता है पत्नी का काम

क्या आपने कभी सोचा है कि गृहस्थ महिलाएं सुबह से लेकर शाम तक हर वक्त काम में क्यों व्यस्त रहती हैं? हाल ही में हुए एक शोध द्वारा इस सवाल का जवाब तलाशने की कोशिश की गई.

मिशिगन यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के अनुसार पति की वजह से पत्नियों के काम की अवधि सात घंटे अधिक बढ़ जाती है. यह अध्ययन समझाता है कि क्यों विवाहित महिलाओं के पास हमेशा घर में इतना कामकाज होता है.

यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट फॉर सोशल रिसर्च के फ्रैंक स्टैनफोर्ड के हवाले से कहा गया है कि पुरुष बाहर के कामों की तरफ अधिक झुकाव रखते हैं, वहीं महिलाएं अधिक घरेलू श्रम करती हैं. उन्होंने बताया कि यह स्थिति बच्चों की मौजूदगी में अधिक बदतर हो जाती है.

निष्कर्ष बताते हैं कि जिन महिलाओं के तीन से अधिक बच्चे होते हैं, वे पूरे सप्ताह सफाई, खाना पकाने और कपड़े धोने में 28 घंटे बिताती हैं. वहीं युवा एकल महिलाओं को इन कामों के लिए सप्ताह में केवल 12 घंटे ही देने पड़ते हैं.

ये आंकड़े आईएसआर के 1968 से 2005 तक के आंकड़ों पर आधारित हैं. इनके आधार पर 2005 में एक 'टाइम-डायरी' तैयार की गई थी, जिनका अध्ययन करने के बाद नतीजे निकाले गए. इसमें लोगों से पूछा गया था कि वे सफाई, खाना पकाने, कपड़े धोने और अन्य बुनियादी कामों में कितना समय बिताते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें