scorecardresearch
 

होली में सेहत का खास ख्याल रखें गर्भवती महिलाएं

केमिकल युक्त रंग और मिलावटी मिठाइयां किसी के लिए भी खतरनाक हो सकती हैं पर गर्भवती महिलाओं को खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है.

गर्भवती महिलाएं रखें खास ख्याल गर्भवती महिलाएं रखें खास ख्याल

होली के रंग किसी के लिए भी खतरनाक हो सकते हैं क्योंकि बाजार में बिकने वाले ज्यादातर रंगों में खतरनाक केमिकल्स मिले होते हैं. इतना ही नहीं इस मौके पर मिलने वाली ज्यादातर मिठाइयों में भी मिलावट होती है.

यूं तो केमिकल युक्त रंग और मिलावटी मिठाइयां किसी के लिए भी खतरनाक हो सकती हैं पर गर्भवती महिलाओं को खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है. ये चीजें गर्भवती महिला और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे, दोनों ही के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती हैं.

नर्चर आईवीएफ सेंटर की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. अर्चना धवन का कहना है कि गर्भावस्था में महिलाओं की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है. जिससे बीमार पड़ने और संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है.

उनके अनुसार, गर्भावस्था में रसायनयुक्त रंग काफी गंभीर असर डाल सकते हैं. इनसे तंत्रिका तंत्र, किडनी और रिप्रोडक्टिव सिस्टम को नुकसान पहुंच सकता है. गर्भवती महिला अगर इनके संपर्क में आती है तो उसे समयपूर्व प्रसव, बच्चे के विकास से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं. कई बार तो ये रंग और मिठाइयां गर्भपात का कारण भी बन सकते हैं.

डॉ. अर्चना का कहना है कि होली पर रंग खेलना है तो खेलें लेकिन उसके लिए नेचुरल रंगों का इस्तेमाल करना ही सबसे अच्छा रहेगा. उनका कहना है कि ज्यादा मिठाइयां और कार्बोनेटेड पेय पदार्थ के सेवन से शरीर में शुगर का लेवल बढ़ जाता है जिससे मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है. ऐसे में घर पर ही मिठाइयां बनाए और उनका सेवन करें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें