scorecardresearch
 

मणिपुर के इस बाजार में चलती है महिलाओं की हुकूमत

कहा जाता है कि एक महिला अपने परिवार को अकेले नहीं चला सकती और बाहर जाकर काम करना उनके बस की बात नहीं लेकिन इंफाल की इन महिला व्यापारियों ने इन सब बातों को गलत साबित कर दिया है.

X
इमा मार्केट दुनिया का पहला महिला दुकानदारों का बाजार है
इमा मार्केट दुनिया का पहला महिला दुकानदारों का बाजार है

नारी शक्ति का कमाल देखना है तो एकबार इंफाल के इमा मार्केट जाकर जरूर देखें. यह भारत का अकेला ऐसा बाजार है जहां महिलाओं का वर्चस्व कायम है. यह एक ऐतिहासिक बाजार है और यहां की हर दुकान में महिला व्यापारी देखी जा सकती हैं. इस बाजार में मर्दों को काम नहीं करने दिया जाता है.

इमा बाजार का अर्थ है 'मां का बाजार' और इसे नुपी कीथल के नाम से भी जाना जाता है. इस बाजार में तकरीबन 4000 महिला व्यापारी काम करती हैं. यहां सब्जी-फल से लेकर हर घरेलू सामान मिलता है.

यह बाजार 1786 में बना था और इसके संचालन का जिम्मा महिलाओं ने उठाया था क्योंकि उस समय मणिपुर के सारे मर्द चीन और बर्मा की सेनाओं से युद्ध में उलझे हुए थे. परिवार की जिम्मेदारी महिलाओं के कंधे पर आ गई थी और तब से लेकर आज तक इस बाजार की कमान महिलाओं के हाथ में है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें