scorecardresearch
 

जानें, प्रेग्नेंसी में पानी पीना क्यों है जरूरी

अगर आप प्रेग्नेंट हैं और कम पानी पीती हैं तो कई परेशानियां हो सकती हैं. प्रेग्नेंसी में पर्याप्त पानी पीना क्यों जरूरी है, आइये जानते हैं.

X
pregnancy pregnancy

पानी, शारीरिक और मानसिक सेहत व उसके विकास के लिए बेहद जरूरी है. पर, अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो आपके लिए यह बात और भी लाजमी हो जाती है. यह आपके बच्चे के ग्रोथ के लिए भी जरूरी है.

दरअसल, प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में हो रहे नये-नये बदलावों और उसकी जरूरतों को पूरा करने के लिए ज्यादा पानी की जरूरत होती है.

प्रेग्नेंसी में पानी पीना क्यों जरूरी
पानी, ब्लड सेल्स के विकास में मददगार होता है. इस दौरान बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए यह जरूरी है कि मां के शरीर में पर्याप्त पानी यानी तरल हो. इसके अलावा यह मां के दूध के लिए भी जरूरी है.
लाइफ लाइन की गाइनेकोलोजिस्ट डॉक्टर रेणू चावला ने बताया कि प्रेग्नेंसी के दौरान कम पानी पीने वाली महिलाओं की डिलिवरी में कॉमप्लीकेशन्स आने की संभावना अधि‍क होती है. इसके अलावा उन्हें स्तनपान कराने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. प्रेग्नेंसी में पानी पीने की कुछ अन्य वजहें भी हैं :

नहीं होता डीहाइड्रेशन
प्रेग्नेंट लेडी अगर दिन में आठ से दस ग्लास पानी पीती है तो उसे और उसके बच्चे को डीहाइड्रेशन का खतरा नहीं होता. प्रेग्नेंसी के दौरान पानी की कमी सिर में दर्द, मिचली, मरोड़, हाथ-पैर में सूजन, चक्कर आने जैसी परेशानियों का सबब भी बन सकती है.

डिलिवरी का समय
डिलिवरी काफी हद तक इस बात पर निर्भर करती है कि आपने प्रेग्नेंसी के तीसरे महीने से कितना पानी पिया है. दरअसल, कम पानी पीने वाली महिलाओं की डिलिवरी जल्दी होने की आशंका रहती है.

नार्मल डिलीवरी से जन्मे बच्चे होते हैं कहीं अधि‍क हेल्दी और फिट

डाइजेशन के लिए
प्रेग्नेंसी के दौरान डाइजेशन ठीक से हो इसके लिए पर्याप्त पानी पीना बहुत जरूरी है. उन्हें कब्ज की समस्या नहीं होती. इसके अलावा यह शरीर को ठंडा रखने में भी मददगार होता है.

संक्रमण का खतरा नहीं
इस दौरान महिलाओं को संक्रमण का खतरा ज्यादा होता है. खासतौर से यूरिनेरी ट्रैक संक्रमण सबसे ज्यादा होता है.पानी इस तरह के संक्रमण से मां बचाता है.

माइकल जैकसन की बहन 50 साल की उम्र में हुईं प्रेग्नेंट, जानें कैसा है उनका अनुभव...

कितना पिएं पानी
प्रेग्नेंसी के दौरान कम से कम आठ से दस ग्लास पानी पीना चाहिए. लगभग तीन लीटर. अगर आपको पानी का टेस्ट पसंद नहीं आता तो उसमें नींबू, शहद आदि डालकर पी सकती हैं.

सॉफ्ट ड्रिंक से बनाएं दूरी
शरीर में तरल की कमी सॉफ्ट ड्रिंक से पूरी नहीं की जा सकती. इसलिए इन पर निर्भर न रहें. प्रेग्नेंसी में सॉफ्ट ड्रिंक न पीना ही बेहतर होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें