scorecardresearch
 

सेक्‍स की तुलना में स्मार्टफोन को तरजीह दे रहे किशोर: Study

तकनीक और स्मार्ट फोन के इस दौर में किशोर अपने फोन से इतने ज्यादा जुड़े हैं कि इसके लिए वह लगभग हर चीज यहां तक कि सहवास भी छोड़ सकते हैं.

Symbolic photo Symbolic photo

तकनीक और स्मार्टफोन के इस दौर में किशोर अपने फोन से इतने ज्यादा जुड़े हैं कि इसके लिए वह लगभग हर चीज यहां तक कि सहवास भी छोड़ सकते हैं. एक दिलचस्प शोध में यह बात सामने आई है.

हाल ही में हुए एक सर्वे के मुताबिक अमेरिका में 26 फीसदी छात्र मोबाइल फोन के बिना नहीं रह सकते जबकि सिर्फ 20 फीसदी छात्रों ने कहा कि वे सेक्‍स के बिना नहीं रह सकते.

स्‍टूडेंट हर दिन पांच घंटे से ज्यादा समय ऑनलाइन बिताते हैं और ज्यादातर एक समय में पांच से ज्यादा एप्लीकेशन का इस्‍तेमाल करते हैं.

एक सच यह भी है कि टेक्नोलॉजी की समझ बढ़ने के साथ-साथ छात्रों के पढ़ने के तरीके भी बदले हैं.

ज्यादातर स्‍टूडेंट पारंपरिक पढ़ाई में दिलचस्पी नहीं लेते. उनमें से कई डिजिटल परिसर में काम करने के आदी हैं.

'हफिंगटन पोस्ट' के मुताबिक, "यहां तक कि लेक्चर में भी नोट्स के लिए लगभग आधे (44 फीसदी) छात्रों ने कहा कि वे नोट्स लिखने की अपेक्षा मोबाइल फोन का उपयोग करने को प्राथमिकता देंगे."

मध्य पूर्व यूरोप और अफ्रीका में डिस्‍ट्रीब्‍यूशन के लिए अरुबा नेटवर्क्‍स के निदेशक क्रिस कोजप ने बताया, "किसी भी विश्वविद्यालय और कॉलेज में खेल और काम दोनों के लिए मोबाइल से जुड़े रहना अब जिंदगी का महत्वपूर्ण हिस्सा है."

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×