scorecardresearch
 

ज्यादा नमक खाकर हर साल मर रहे हैं लाखों

जी हां, नमक आपकी जान तक ले सकता है. दुनिया भर में पिछले साल लगभग साढे़ सोलह लाख लोग अधिक नमक खाने के कारण मौत के शिकार हो गए. एक रिसर्च में यह बात कही गई है. इंग्लैंड के जर्नल न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में यह रिसर्च प्रकाशित हुआ है. इसके मुताबिक दुनिया में सबसे ज्यादा नमक भारतीय खाते हैं.

X
नमक नमक

जी हां, नमक आपकी जान तक ले सकता है. दुनिया भर में पिछले साल लगभग साढे़ सोलह लाख लोग अधिक नमक खाने के कारण मौत के शिकार हो गए. एक रिसर्च में यह बात कही गई है. इंग्लैंड के जर्नल न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में यह रिसर्च प्रकाशित हुआ है. इसके मुताबिक दुनिया में सबसे ज्यादा नमक भारतीय खाते हैं.

औसतन एक व्यक्ति को सिर्फ दो ग्राम नमक खाना चाहिए लेकिन आम भारतीय औसतन 7.6 ग्राम नमक खाता है. नमक या सोडियम बेहद खतरनाक है क्योंकि यही कई बीमारियों की जड़ है. इससे न केवल ब्लड प्रेशर बढ़ता है बल्कि स्ट्रोक भी होता है. दिल की बीमारियों का यह एक बड़ा कारण है. भारत में हर चौथा वयस्क ब्लड प्रेशर से पीड़ित है. उनके लिए ज्यादा नमक ज़हर की तरह है.

इंग्लैंड की स्टडी में 100 वैज्ञानिकों ने भाग लिया और उससे प्राप्त डेटा का विश्लेषण किया गया. यह स्टडी नमक के दिल की बीमारियों पर असर केन्द्रित थी. इससे यह निष्कर्ष निकला कि 2013 में साढ़े सोलह लाख लोग दुनिया भर में नमक के अधिक उपयोग के कारण मौत के शिकार हो गए.

66 देशों में नमक खाने के बारे में 205 सर्वेक्षण किए गए और उनसे मिले आंकड़ों का विश्लेषण किया गया. ब्लड प्रेशर तथा दिल की बीमारियों पर नमक के असर के बारे में अलग-अलग जांच की गई. सभी को मिलाकर 187 देशों में नमक के उपयोग से होने वाली मौतों का विश्लेषण किया गया.

सर्वे के निष्कर्ष के बारे में कहा गया है कि ज्यादा नमक खाना तंबाकू खाने जैसा ही है. भारत अत्यधिक नमक इस्तेमाल करने वाले देशों में है और इसलिए यहां मौतें ज्यादा हो रही हैं. यह हाइपर टेंशन और दिल की बीमारियों की जड़ है. भारत में पहले से ज्यादा लोगों को स्ट्रोक होता है और उसका कारण यही नमक है. विशेषज्ञों का मानना है कि वक्त आ गया है कि भारत में नमक के इस्तेमाल के बारे में कानून बनाया जाए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें