scorecardresearch
 

प्रदूषण के कारण भारत में बढ़ी मास्क की डिमांड, 2023 तक 118 करोड़ का होगा बाजार

बढ़ते प्रदूषण की वजह से प्रदूषण रोधी मास्क की मांग बढ़ रही है. भारत में प्रदूषण से बचाने वाले मास्क का बाजार 2023 तक बढ़कर 1.68 करोड़ डॉलर यानी 118 करोड़ रुपये पर पहुंच जाएगा.

प्रतीकात्मक फोटो (Pixabay Image) प्रतीकात्मक फोटो (Pixabay Image)

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की वजह से यहां की हवा दिन-ब-दिन जहरीली होती जा रही है. जिसकी वजह से बच्चे, बूढ़े ही नहीं युवा भी सांस लेने में दिक्कत महसूस कर रहे हैं. दिल्ली-एनसीआर का वायु प्रदूषण अब लोगों के लिए नासूर बनता जा रहा है. 

वायु की गुणवत्ता खराब होने तथा शहरीकरण की रफ्तार बढ़ने से देश में प्रदूषण रोधी मास्क की मांग बढ़ रही है. उद्योग मंडल एसोचैम ने बुधवार को एक रिपोर्ट में कहा कि भारत में प्रदूषण से बचाने वाले मास्क का बाजार 2023 तक बढ़कर 1.68 करोड़ डॉलर यानी 118 करोड़ रुपये पर पहुंच जाएगा.

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत का प्रदूषण रोधी मास्क का बाजार 2023 तक 1.68 करोड़ डॉलर होगा जो 2017 में 61.6 लाख डॉलर या करीब 43 करोड़ रुपये का था.

एसोचैम का कहना है कि वायु में भारत के उत्तरी इलाकों में प्रदूषकों के उच्चस्तर की वजह से प्रदूषण रोधी मास्क की मांग बढ़ रही है.

इसके अलावा स्वास्थ्य सेवा पर प्रति व्यक्ति खर्च बढ़ने और जागरूकता बढ़ने की वजह से देश में प्रदूषण रोधी मास्क की मांग आगामी वर्षों में बढ़ेगी.

मास्क खरीदने से पहले जान लें ये बातें-

-प्रदूषण से बचने के लिए मास्क खरीदते समय उसकी रेटिंग जरूर देख लें. इसके लिए ऐसा मास्क खरीदें जिसकी रेटिंग N95 हो.

-दूसरा मास्क खरीदने से पहले उसे अपने चेहरे पर पहनकर देख लें कि वो आपको फिट हो भी रहा है या नहीं. चेहरे से बड़ा मास्क न खरीदें वरना चेहरे और मास्क के बीच की जगह से प्रदूषित हवा भीतर आ जाएगी.

-मास्क खरीदते समय ध्यान रखें कि उसका मैटीरियल ऐसा होना चाहिए कि वो प्रदूषण के छोटे-से-छोटे कणों (PM2.5) को भी रोक सके.

-मास्क ऐसा होना चाहिए जिसे पहनकर व्यक्ति अच्छे से सांस ले सके और उसमें अच्छा वेंटिलेशन भी हो. 

कौन सा मास्क है बेहतर-

अक्सर लोग प्रदूषण से बचने के लिए साधारण हरे या नीले क्लीनिकल मास्क को पहने हुए देखे जाते हैं. ये किफायती तो जरूर होते हैं लेकिन प्रदूषण से लड़ने में इनका कोई खास रोल नहीं होता. इस तरह के मास्क लगभग हर तरह के एयर पल्युशन के सामने बेअसर रहते हैं.

- अगर मास्क लगाकर सांस लेने में ज्यादा परेशानी हो रही हो तो आप अपने डॉक्टर से भी पूछकर मास्क खरीद सकते हैं.

-बता दें, प्रदूषण से निपटने के लिए Vogmask, Neomask, Totobobo, Respro, Venus और 3M जैसी कंपनियों के मास्क अच्छे माने जाते हैं. बात अगर बाजार में मिलने वाले इन मास्क की कीमत की करें तो ये 150 रुपये से 5000 रुपये तक की कीमत में बाजार में उपलब्ध हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें