scorecardresearch
 
लाइफस्टाइल

कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव

कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव
  • 1/8
नियर डेथ एक्सपीरिएंस (NDE) यानी मौत का करीब से अनुभव. इस विषय पर मेडिकल साइंस के दिग्गजों और धार्मिक पंडितों के बीच लंबे समय से बहस छिड़ी हुई है. मौत के बाद की रहस्यमयी दुनिया को समझने के लिए मेडिकल साइंस कई प्रयोग कर चुका है. मस्तिष्क तक पहुंचने वाली ऑक्सीजन को ब्लॉक करके भी उस दुनिया तक पहुंचने की कोशिश की जा चुकी है.
कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव
  • 2/8
पीटर नाम के एक व्यक्ति ने हाल ही में 'नियर डेथ एक्सपीरिएंस' को लेकर ऐसा खुलासा किया जिसे जानने के बाद हर कोई हैरान है. पीटर का दावा है कि मौत के बाद की दुनिया को उसने बेहद करीब से देखा है.
कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव
  • 3/8
नियर डेथ एक्सपीरिएंस रिसर्च फाउंडेशन की वेबसाइट पर पीटर के अनुभवों को साझा किया गया है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि पीटर ने 16 मार्च 2010 को मौत के बाद की दुनिया को देखा था.
कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव
  • 4/8
रिपोर्ट के अनुसार, पीटर के साथ बाथ टब में नहाते वक्त ऐसा हो चुका है. बाथ टब में कुछ देर डूबने के बाद पीटर ने जो देखा वो आज तक उसके जेहन से नहीं निकल पाया है.
कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव
  • 5/8
पीटर ने बताया कि पानी में डूबने के बाद उसकी आंखों के आगे घना अंधेरा छाने लगा था. इसके बाद उसे काले लिबास में एक लड़की भी नजर आई थी.
कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव
  • 6/8
पीटर ने ये सब उस वक्त अनुभव किया जब उसका शरीर आत्मा से लगभग मुक्त हो चुका था. पीटर ने बड़े विश्वास से बताया है कि उसने सिर्फ लड़की की छाया देखी थी. उस लड़की का कोई चेहरा नहीं था.
कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव
  • 7/8
ये बिल्कुल वैसा ही अनुभव था जैसे किसी ने आपको एक चादर में लपेट दिया हो. उस लड़की के बालों का रंग हल्का ब्राउन था. ये रंग हू-ब-हू पीनट बटर जैसा था.
कैसी है मौत के बाद की दुनिया? रोंगटे खड़े कर देगा शख्स का अनुभव
  • 8/8
बता दें कि कुछ महीनों पहले इवा नाम की एक महिला ने भी 'नियर डेथ एक्सपीरिएंस' को लेकर अपना एक्सपीरिएंस लोगों के साथ शेयर किया था. ईवा ने स्पष्ट कहा था कि मृत्यु के बाद मनुष्यों के शरीर की कोई सीमा नहीं होती.