scorecardresearch
 
लाइफस्टाइल

कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान उपाय? डाइट में करें 5 बदलाव

हाई कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान तरीका? डाइट में करें ये 5 बदलाव
  • 1/8
कॉलेस्ट्रोल को बढ़ना शरीर में हृदय संबंधी रोगों को दावत देता है. हाई कॉलेस्ट्रोल की वजह से आप स्ट्रोक, हार्ट अटैक, हाई ब्लड प्रेशर और टाइप-2 डायबिटीज जैसी घातक बीमारियों का शिकार हो सकते हैं. मौजूदा वक्त के लाइफस्टाइल को देखते हुए इसे कंट्रोल करना मुश्किल हो गया है. हालांकि, डाइट में थोड़ी सी सावधानी से इसे कंट्रोल किया जा सकता है.
हाई कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान तरीका? डाइट में करें ये 5 बदलाव
  • 2/8
कुछ चीजों को खाने से कॉलेस्ट्रोल तेजी से बढ़ता है. ऐसे में मीट या यॉक (अंडे का पीला भाग) खाने से परहेज करना चाहिए. अंडे के सिर्फ सफेद भाग में प्रोटीन होता है जो शरीर के लिए काफी अच्छा है.
हाई कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान तरीका? डाइट में करें ये 5 बदलाव
  • 3/8
मौजूदा वक्त में लोग जंक फूड, फास्ट फूड और स्नैक्स का बहुत ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं. इस तरह की सभी चीजें कॉलेस्ट्रोल लेवल को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं.
हाई कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान तरीका? डाइट में करें ये 5 बदलाव
  • 4/8
हरी सब्जियां और फल सेहत के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं, लेकिन अक्सर लोग सब्जियों से बने सलाद का जायका बढ़ाने के लिए ऑयल ड्रेसिंग कर देते हैं. इसकी बजाय नींबू की ड्रेसिंग करें तो सेहत के लिए फायदेमंद होगा.

हाई कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान तरीका? डाइट में करें ये 5 बदलाव
  • 5/8
सब्जियों में बहुत ज्यादा तेल या घी डालने से बचें. बेहतर होगा अगर आप सिर्फ उबली हुई सब्जियों का ही सेवन करें.
हाई कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान तरीका? डाइट में करें ये 5 बदलाव
  • 6/8
अगर आप सब्जियों में तेल का इस्तेमल करना ही चाहते हैं तो सनफ्लॉवर, ऑलिव ऑयल या मक्का के तेल का इस्तेमाल करें. नारियल के तेल का इस्तेमाल करने से बचें.
हाई कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान तरीका? डाइट में करें ये 5 बदलाव
  • 7/8
चाय, कॉफी या मिल्क शेक हर घर में बनाए जाते हैं. इसके लिए लो-फैट मिल्क का इस्तेमाल करें. साथ ही क्रीम या प्रोसेस्ड जैसे डेयरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से बचें.
हाई कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल का सबसे आसान तरीका? डाइट में करें ये 5 बदलाव
  • 8/8
कॉलेस्ट्रोल लेवल को नॉर्मल करने के लिए डाइट का बैलेंस होना बहुत जरूरी है. नियमित रूप से वर्कआउट कर इसके खतरों को कम किया जा सकता है.