scorecardresearch
 

'हल्क' बनने के लिए लगवाता रहा खतरनाक इंजेक्शन, जन्मदिन पर हुई मौत

मसल्स बढ़ाना आजकल के समय में फैशन बन चुका है. अक्सर लोग मसल्स या एब्स बनाने और मसल्स बढ़ाने के लिए जिम में खूब पसीना बहाते हैं लेकिन कुछ ऐसे लोग भी है जो इसके लिए स्टेरॉयड या इंजेक्शन का सहारा लेते हैं. हाल ही में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां बाइसेप्स को 23 इंच का करने के लिए 55 साल एक शख्स ने कुछ ऐसा किया जिसके कारण उसकी मौत हो गई.

X
'हल्क' बनने के लिए लगवाता रहा खतरनाक इंजेक्शन, जन्मदिन पर हुई मौत (Photo/ Credit: Instagram/valdirsegato.oficial) 'हल्क' बनने के लिए लगवाता रहा खतरनाक इंजेक्शन, जन्मदिन पर हुई मौत (Photo/ Credit: Instagram/valdirsegato.oficial)

जिम में पसीना बहाकर बॉडी बनाना आजकल फैशन बन चुका है. आपने ऐसे बहुत से लोगों को देखा होगा जो मसल्स और बाइसेप्स बढ़ाने के लिए जिम ज्वॉइन करते हैं. वहीं, कुछ ऐसे लोग भी है जो जल्दी रिजल्ट पाने के लिए कई तरह की चीजों का भी इस्तेमाल करते हैं जैसे स्टेरॉयड और इंजेक्शन आदि. ऐसा ही एक मामला हाल ही में सामने आया है जहां ब्राजील के एक बॉडीबिल्डर और टिकटॉक स्टार वाल्दिर सेगातो ने मसल्स बढ़ाने के लिए कुछ ऐसा किया जिससे उसकी मौत हो गई. 

'हल्क' के नाम से पहचाने जाने वाले इस ब्राजीलियन शख्स ने 23 इंच के बाइसेप्स बनाने के लिए खुद को एक खतरनाक ऑयल का इंजेक्शन लगाया जिसके कारण रिबेराओ प्रेटो में 55 वें जन्मदिन के मौके पर उनकी मौत हो गई. स्ट्रोक और इंफेक्शन का खतरा होने के बावजूद बाइसेप्स और बैक मसल्स को बढ़ाने के लिए वाल्दिर सेगातो काफी लंबे समय से सिंथॉल इंजेक्शन का इस्तेमाल कर रहा था.  

डेली मेल के मुताबिक, वाल्दिर ने साल 2016 में बताया था कि लोग मुझे हर समय श्वार्ज़नेगर, हल्क और ही-मैन के नाम से बुलाते हैं और मुझे ये सब सुनना काफी अच्छा लगता है. मैनें अपने बाइसेप्स को डबल कर लिया है लेकिन मैं अभी भी और बड़े बाइसेप्स चाहता हूं. 

photo/credit: Instagram/valdirsegato.oficial

6 साल पहले  वाल्दिर को डॉक्टर्स ने चेतावनी दी थी कि अगर वह इस तरह की बॉडी बनाने के लिए इंजेक्शन का इस्तेमाल करता रहा तो उसे नर्वस डैमेज समेत कई जानलेवा दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है लेकिन इसके बावजूद भी  वाल्दिर मसल्स बढ़ाने के लिए लगातार इंजेक्शन का इस्तेमाल करता रहा. 

लगातार इंजेक्शन लगाने के बाद वाल्दिर के मसल्स 23 इंच के हो गए जिस कारण लोग उसे 'द मॉन्सटर' के नाम से पुकारने लगे जिसके लिए उसे काफी गर्व महसूस होता था. वाल्दिर सोशल मीडिया पर अपने बॉडी ट्रांसफोर्मेशन की कई फोटोज और वीडियोज शेयर करता रहता था साथ वह खुद को 'वाल्दिर सिंथॉल' के नाम से पुकारता था. 

photo/Credit: Instagram/valdirsegato.oficial

वाल्दिर के टिकटॉक पर 1.7 मीलियन फॉलोअर्स थे. वाल्दिर के पड़ोसियों ने लोकल मीडिया को बताया कि उसके बहुत कम दोस्त और रिश्तेदार थे.  Moisés da Conceição da Silva ने ब्राज़ील की ग्लोबो न्यूज़ को बताया कि वाल्दिर ने अपने परिवार के घर के पीछे बनी एक प्रॉपर्टी किराए पर ली थी. एक स्थानीय व्यक्ति ने बताया कि  मौत के दिन उसे सांस लेने में काफी तकलीफ हो रही थी जिसके कारण उसने मदद के लिए अपनी मां को बुलाया था.  

द सिल्वा ने पब्लिकेशन से कहा, उस दिन सुबह के 6 बजे के आसपास का समय था. वह पीछे के घर से रेंगता हुआ आगे आया. फिर उसने मेरी मां खिड़की को खटखटाया. खटखटाहट की आवाज खुनकर मेरी मां उठी तो वह मदद मांगते हुए बोला  'मेरी मदद करो क्योंकि मैं मर रहा हूं.' इसके बाद तुरंत ही वाल्दिर को हॉस्पिटल ले जाया गया जहां हार्ट अटैक आने के कारण वह रिसेप्शन एरिया में ही गिर गया. 

क्या होता है सिंथोल

यूरोप पबमेड सेंट्रल के अनुसार, सिंथॉल में आमतौर पर ऑयल, बेंज़िल अल्कोहल और लिडोकेन का मिश्रण होता है. इसके कारण नर्वस डैमेज, हार्ट अटैक, स्ट्रोक, इंफेक्शन का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें