scorecardresearch
 

Viral Jokes: जब पत्नी ने पति से पूछा तुम मूर्ख हो या मैं...मिला ये शानदार जवाब

Latest Jokes in Hindi: सही समय पर सटीक जोक्स से आप बेरंग माहौल में भी रंग घोल देते हैं. इसीलिए हम आपके लिए कुछ ऐसे मजेदार चुटकुले लेकर आए हैं, जिन्हें पढ़ने के बाद आप हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे.

X
Viral Jokes in Hindi Viral Jokes in Hindi

Chutkule and Jokes in Hindi: नए साल पर हर कोई 'न्यू ईयर रिज़ोल्यूशन' बनाता है. ऐसे में आप भी एक रिज़ोल्यूशन बनाइये कि रोज़ हंसेंगे. हंसने से मानसिक हो या शारीरिक सभी बीमारियां दूर रहती हैं. इसीलिए हम आपके लिए कुछ ऐसे मजेदार चुटकुले लेकर आए हैं, जिन्हें पढ़ने के बाद आप हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे. तो चलिए शुरू करते हैं हंसने-हंसाने का ये सिलसिला...

> एक बुज़ुर्ग ऑपरेशन टेबल पर लेटे थे।
बड़ा ऑपरेशन होने वाला था और ऑपरेशन उनका डॉ.दामाद करने वाला था।
जब डॉ. दामाद ऑपरेशन थियेटर में आया
तो बुज़ुर्ग ने बड़े प्यार से दामाद का हाथ पकड़ के कहा कि बेटा मैं जानता हूं तुम मुझे कुछ नहीं होने दोगे।
पर अगर कुछ अनहोनी हो गयी तो तुम्हारी सास तुम्हारे साथ ही रहेगी।
उसका ध्यान रखना...ऑपरेशन सफल रहा!

> बाप- अगर तुम इस बार भी फेल हो गए तो मुझे पापा मत कहना....
कुछ दिन बाद...
बाप- तुम्हारे रिजल्ट का क्या रहा चिंटू...
चिंटू- दिमाग खराब मत करो हरीशचंद्र...तुम अपने बाप होने का हक खो चुके हो
दे जूते.....दे चप्पल.....दे जूते

ऐसे ही मजेदार जोक्स पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें Jokes in Hindi 

> टीचर: न्यूटन का नियम बताओ
स्टूडेंट: सर, पूरी लाइन तो याद नहीं, लास्ट की याद है
टीचर: चलो लास्ट की ही सुनाओ
स्टूडेंट: .......और इसे ही न्यूटन का नियम कहते हैं

> पत्नी ने पति से पूछा पत्नी- अच्छा ये बताओ कि तुम मूर्ख हो या मैं ???
पति- (शान्त मन से) प्रिये ये बात तो सब लोग जानते हैं कि तुम अत्यन्त तीव्र बुद्धि की स्वामिनी हो
इसलिए यह कभी हो ही नहीं सकता कि तुम किसी मूर्ख व्यक्ति से शादी करो
पति का नाम राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए भेजा गया है!!

> सोनू- दुनिया का सबसे बड़ा त्योहार कौन सा है? 
मोनू - घरवाली
सोनू- मतलब? 
मोनू- और क्या, हफ्ते में 3-4 बार तो मनाना ही पड़ता है.

(डिस्क्लेमरः इस सेक्शन के लिए चुटकुले वॉट्सऐप व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर हो रहे पॉपुलर कंटेंट से लिए गए हैं. इनका मकसद सिर्फ लोगों को थोड़ा... गुदगुदाना है. किसी जाति, धर्म, मत, नस्ल, रंग या लिंग के आधार पर किसी का उपहास उड़ाना, उसे नीचा दिखाना या उसपर टीका-टिप्पणी करना हमारा उद्देश्य बिल्‍कुल भी नहीं है)  

ये भी पढ़ें - 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें