scorecardresearch
 
चुटकुले

Viral Jokes: टीचर ने पूछा- 4 और 4 कितने होते हैं? मोनू ने फटाफट दिया ये जवाब

jokes
  • 1/9

Funny Jokes and Chutkule in Hindi: जिंदगी घूप छांव से भरी है लेकिन बुरे वक्त में हमें निराश होने की जगह और मुस्कुराकर उनका सामना करना चाहिए. उदाय होने पर भी आस पास सकारात्मक माहौल बना रहे इसलिए हमेशा हंसते रहना चाहिए. इसी को ध्यान में रखते हुए हम आपके लिए लाए हैं कुछ चुटकुल जो आपको हंसाएंगे.

jokes in hindi
  • 2/9

टीचर - चल बता...4 और 4 कितने होते हैं? 
मोनू- 10 होते हैं.
टीचर- 8 होते हैं... नालायक 
मोनू- हम दिलदार घर से हैं....2 मैंने अपने खुद के भी डाले हैं.

funny jokes
  • 3/9

डॉक्टर- जब तुम तनाव में होते हो क्या करते हो?
मरीज- जी, मंदिर चला जाता हूं...
डॉक्टर- बहुत बढ़िया, ध्यान-व्यान लगाते हो वहां?
मरीज- जी नहीं, लोगों के जूते चप्पल मिक्स कर देता हूं, फिर उन लोगों को देखता रहता हूं...
उनको तनाव में देख कर मेरा तनाव दूर हो जाता है.

joke of the day
  • 4/9

एक आदमी दूसरे आदमी से...
ये बात समझ में नहीं आती कि शराब की दुकान का वास्तुशास्त्र कौन बनाता है.
चाहे नाले पर हो, दक्षिण दिशा में हो,
सामने गड्ढा हो, बिजली का ट्रांसफार्मर हो या कैसा भी वास्तु दोष हो,
दुकान पर भीड़ हमेशा बनी ही रहती है.

viral jokes
  • 5/9

मोटू- भाई कल सर्कस देखने चलेंगे
पतलू- अपनी बीवी को भी लाऊंगा
मोटू- शेर के पिंजरे में अगर तेरी वाइफ और साली दोनों गिर गयी तो तू किसको बचाएगा
पतलू- मोटू मैं तो शेर को बचाऊंगा, आखिर दुनिया में अब शेर बचे ही कितने हैं.

majedar jokes
  • 6/9

टीचर- तुमने कभी कोई नेक काम किया है? 
राजू- हां सर एक बुजुर्ग धीरे-धीरे अपने घर जा रहे थे.. 
मैंने कुत्ता पीछे लगा दिया जल्दी पहुंच गए

chutkule
  • 7/9

एक आदमी ने कंडक्टर से पूछा- आप कितने घंटे बस में रहते हो? 
कंडक्टर- जी 24 घंटे।
आदमी- वो कैसे? 
कंडक्टर- देखिए, 8 घंटे तो सिटी बस में रहता हूं और बाकी के 16 घंटे बीवी के बस में रहता हूं।

hindi jokes
  • 8/9

सोनू - क्या हुआ भाई क्यों उदास बैठे हो?
मोनू - कल एक न्यूज चैनल के एंकर ने कहा था
आइए हम आपको गोवा लेकर चलते हैं। तभी से 
तैयार बैठा हूं, कोई आया ही नहीं.

jokes
  • 9/9

(डिस्क्लेमरः इस सेक्शन के लिए चुटकुले वॉट्सऐप व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर हो रहे पॉपुलर कंटेंट से लिए गए हैं. इनका मकसद सिर्फ लोगों को गुदगुदाना है. किसी जाति, धर्म, मत, नस्ल, रंग या लिंग के आधार पर किसी का उपहास उड़ाना, उसे नीचा दिखाना या उसपर टीका-टिप्पणी करना हमारा उद्देश्य बिल्‍कुल नहीं है).

ऐसे ही मजेदार चुटकुले पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.