scorecardresearch
 

Video: वो प्लान जिसके तहत दागी गईंं महात्मा गांधी के सीने में 3 गोलियां

Video: वो प्लान जिसके तहत दागी गईंं महात्मा गांधी के सीने में 3 गोलियां

इतिहास गांधी की हत्या के पल से आज भी मुंह चुराकर निकल जाता है. उसको यकीन ही नहीं होता कि कोई कैसे मानवता के सबसे बड़े देवता की बूढ़ी छाती में तीन गोलियां उतार सकता है. लेकिन 30 जनवरी 1948 की वो शाम भारत के लिए एक अंधकारमय भविष्य का नजराना लेकर आई तो दुनिया के लिए नाउम्मीदी का एक नया मंजर. तीस जनवरी की शाम महात्मा गांधी की हत्या तब हो गई जब वो प्रार्थना के लिए जा रहे थे. देखें वीडियो.

The history of our nation will always feel shame for the assassination of Mahatma Gandhi. it was the date of 30 January of 1948 when we lost the greatest human being of mankind. What was the full plan and how it was made to kill Bapu, who were behind it and what was the reason to do so, watch this video to know.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें