scorecardresearch
 

क्‍या लाल बहादुर शास्‍त्री को जहर दिया गया था?

11 जनवरी 1966, ये वो तारीख है, जिस दिन भारत के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने दुनिया को अलविदा कहा, लेकिन जिन हालात में शास्त्री जी की मौत हुई वो हालात आज भी राज और रहस्य से घिरे हुए हैं. लाल बहादुर शास्त्री 1966 में पाकिस्तान से समझौता करने के लिये ताशकंद गए थे, लेकिन वहां से वापस आया उनका का पार्थिव शरीर. जानिये क्‍या है उनकी मौत का सच...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें