scorecardresearch
 

VIDEO: 9 महीने की गर्भवती ने मांगी मदद, दो जिलों की पुलिस आई साथ

कोरोना की वजह से सभी लोग लॉकडाउन में जिंदगी बिताने के लिए मजबूर हैं. कई लोगों ने पुलिस द्वारा उत्पीड़न की शिकायत की है. हालांकि, कुछ ऐसी कहानियां भी सामने आ रही हैं, जो आपको पुलिस पर गर्व करने के लिए मजबूर कर देंगी. ऐसी ही एक कहानी बरेली के इज्जतनगर की रहने वाली तमन्ना अली की है. तमन्ना 9 महीने की गर्भवती थीं और उनके पति काम के सिलसिले में नोएडा में थे. तमन्ना को पता था कि उन्हें कभी भी प्रसव पीड़ा हो सकती है. परेशान होकर उन्होंने वीडियो जारी कर मदद मांगी. उनका वीडियो देखने के बाद बरेली के एसएसपी शैलेष पांडे ने उनसे फोन पर बात की और मदद का आश्वासन दिया. शैलेष ने नोएडा के अडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह से मदद मांगी. रणविजय ने तमन्ना के पति को गाड़ी से बरेली भिजवाया. पति के पहुंचने के कुछ घंटे बाद ही तमन्ना को बेटा हुआ. तमन्ना ने अपने बेटे का नाम अडिशनल डीसीपी रणविजय के नाम पर रखा है. तमन्ना ने पुलिसवालों को वर्दी में भगवान बताया है. देखें यह भावुक कर देने वाली रिपोर्ट.

At a time when the whole Country is facing the coronv virus scare and lockdown is underway, the determination of a police officer in Noida will restore your faith in humanity. 25 year old, Tamanna khan ,a resident of Bareilly in UP just gave birth to a baby boy and named him Rannvijay, after Rannvijay Singh, The SSP of Noida, who helped Tamanna husband reach home in time while she was in labor pain. Tamanna whose husband works in noida, was stuck there due to the coron virus lockdown and could not go to bareilly where nine months pregnant Tamanna was all alone. With none to look after her, tamanna decided to take the help of UP police. She contacted bareilly police and the concerned officer spared no time to help her.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें