scorecardresearch
 

'संघ की शाखा का करेंगे विरोध, वे जहर घोलने वाले लोग', राकेश टिकैत ने RSS पर बोला हमला

राकेश टिकैत ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं का पूरी तरह से बहिष्कार करने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि वे जहर घोलने वाले लोग हैं. फर्जी लाठी रखते हैं. किसान की लाठी तो परमानेंट है.

X
राकेश टिकैत (फाइल फोटोः पीटीआई) राकेश टिकैत (फाइल फोटोः पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • संघ की पत्रिका में छपे लेख पर बिफरे किसान नेता टिकैत
  • अग्निपथ योजना का किया विरोध, कहा- देश ऐसे नहीं चलेगा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पत्रिका में सिसौली के लोगों को खालिस्तान समर्थक बताने वाले लेख को लेकर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत भड़क गए हैं. राकेश टिकैत ने हरिद्वार में आयोजित तीन दिवसीय किसान शिविर के दूसरे दिन पत्रकारों से बात कर रहे थे. संघ की पत्रिका में छपे लेख पर आपत्ति जताई. उन्होंने कहा कि सिसौली के लोगों को खालिस्तानी बताने वाला भाग हटाकर पत्रिका में सही तथ्य नहीं छापा गया तो हम लेख लिखने वाले और छापने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएंगे.

राकेश टिकैत ने कहा कि पत्रिका में छपे लेख में लिखा गया है कि हमने खालिस्तानियों का समर्थन किया. भाई वे ये बता दें कि क्या सबूत है. क्या देश के सभी सरदार खालिस्तानी हैं. हम कहां से आए हैं भाई, हमें भी बता दो. उन्होंने कहा कि जब तक इसे लेकर स्पष्टीकरण नहीं आ जाता, हम तब तक संघ की शाखा का पूर्ण रूप से बहिष्कार करेंगे. राकेश टिकैत ने कहा कि लेख में हमारे परिवार के बारे में जो छपा है, संगठन के बारे में जो छापा है, उसे वे ठीक करके छापें.

ये भी पढ़ेंविरोध के बीच गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, अग्निवीरों के लिए CAPF-असम राइफल्स में 10% आरक्षण

उन्होंने कहा कि लेख में हमारी छवि खराब करने की जो कोशिश की गई है, हम उसका पूरी तरह से विरोध करेंगे. राकेश टिकैत ने संघ की शाखाओं के विरोध का ऐलान किया और कहा कि जहां-जहां संघ की शाखा लगेगी, वहां-वहां हम भी शाखा लगाएंगे. लाठी है ही हमारे पास. उन्होंने कहा कि किसान की लाठी परमानेंट है, ये तो फर्जी लाठी रखने वाले लोग हैं. किसान नेता ने कहा कि वे जहर घोलने का कार्य करते हैं यह आज पता चला. ये पूजा-पाठ करने वाले लगते हैं लेकिन हैं नहीं.

अग्निपथ योजना का किया विरोध

किसान नेता राकेश टिकैत ने सेना में भर्ती की अग्निपथ योजना का विरोध किया और कहा कि देश ऐसे नहीं चलेगा. उन्होंने इस योजना के खिलाफ 30 जून को जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन का भी ऐलान किया और कहा कि आगे की रणनीति वहीं पर तय की जाएगी. राकेश टिकैत ने लाल कोठी से चरण सिंह घाट तक पैदल मार्च का भी ऐलान किया.

ये भी पढ़ेंअग्निपथः बिहार में आज भी बवाल जारी, जहानाबाद में बस-ट्रक फूंकी, 15 जिलों में इंटरनेट बंद

राकेश टिकैत ने किसान शिविर को लेकर भी बात की. उन्होंने कहा कि कुल 21 प्रस्ताव हैं. जो भी प्रस्ताव हैं, उन पर चर्चा कर ली जाएगी. किसान नेता ने ये भी कहा कि जो प्रस्ताव बाकी रह रहे होंगे, हम उन पर भी चर्चा कर लेंगे. गौरतलब है कि राकेश टिकैत तीन दिन के किसान शिविर में शामिल होने के लिए उत्तराखंड के हरिद्वार पहुंचे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें