scorecardresearch
 

उत्तराखंड: समय से पहले मॉनसून की एंट्री, सौ फीसदी बारिश का अनुमान, टूटेगा 7 साल का रिकॉर्ड!

Uttarakhand Monsoon and Rain Updates: मॉनसून उत्तराखंड में प्रवेश कर चुका है. इस बार प्रदेश भर में अच्छी बारिश होने की उम्मीद है. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक बीते सात सालों में कभी भी उत्तराखंड में सौ फीसदी मॉनसून की बारिश नहीं हुई.

Uttarakhand Weather Forecast and Monsoon Updates (फाइल फोटो-Getty Images) Uttarakhand Weather Forecast and Monsoon Updates (फाइल फोटो-Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तराखंड में समय से पहले मॉनसून की दस्तक
  • इस साल राज्य में अच्छी बारिश का अनुमान

उत्तराखंड में मॉनसून अपने तय समय से एक हफ्ते पहले दस्तक दे चुका है. इस बार मॉनसून के सामान्य रहने की संभावना है. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक इस बार प्रदेश में मॉनसून बीते सालों की तुलना में काफी अच्छा रहने का अनुमान है.

पिछले साल के अंत और इस साल की शुरुआत में बारिश न होने से बड़े पैमाने पर जंगल जलकर खाक हो गए. इस मॉनसून (Monsoon) से न सिर्फ उन जंगलों में दोबारा हरियाली लौटेगी, बल्कि प्राकृतिक स्रोत भी फिर से जी उठेंगे. सबसे बड़ी राहत खेती और बागवानी करने वाले लोगों को मिल सकती है.

इन इलाकों में बारिश की संभावना

मौसम वैज्ञानिक रोहित थपलियाल ने बताया कि 13 तारीख को ही मॉनसून उत्तराखंड (Monsoon in Uttarakhand) में प्रवेश कर चुका है और इस बार ये काफी लंबे समय तक ठहर सकता है. इससे प्रदेश भर में अच्छी बारिश होने की उम्मीद है. आज यानी 15 जून की बात करें तो पहाड़ी जिलों में खास तौर पर कुमाऊं के अल्मोड़ा, नैनीताल, पिथौरागढ़ और बागेश्वर में भारी बारिश (Heavy Rain) हो सकती है. साथ ही गढ़वाल के रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी में आज (मंगलवार) हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. आने वाले कुछ दिन पूरे प्रदेश में कहीं हल्की से मध्यम और कई जगह तेज हवाओं के साथ भारी बारिश का क्रम जारी रहेगा.

राज्य में चार महीने होगी खूब बरसात

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक इस समय प्रदेश में मॉनसून लंबे समय तक ठहर सकता है, जिससे प्रदेश में सामान्य बारिश की सम्भावना है. पिछले कई सालों के मुकाबले इस बार प्रदेश में अच्छी बारिश हो सकती है. रोहित थपलियाल ने बताया कि इस समय चार महीने तक मॉनसून प्रदेश पर मेहरबान रह सकता है और प्रदेश में करीब 1200 एमएम बारिश हो सकती है. या यूं कहें कि मॉनसून के चार महीनों में प्रदेश में सौ फीसदी बारिश होने का अनुमान है.

सात वर्षों से नहीं हुई 100 फीसदी बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक बीते सात सालों में कभी भी उत्तराखंड में सौ फीसदी मॉनसून की बारिश नहीं हुई. इस कारण जलस्तर, नदियों के प्रवाह में कमी और समय पर बारिश न होने से सूखे जैसी स्थिति बनती रहती थी. मौसम विभाग ने जून माह में शुरुआती 14 दिनों में राज्य में कुल 74.1 एमएम बारिश दर्ज की है जो सामान्य से 36 फीसदी अधिक है.

मौसम विभाग की ये भविष्यवाणी प्रदेश के उन किसानों के लिए अच्छी खबर है जो बारिश पर ही निर्भर रहते हैं. साथ ही अगर अच्छी बारिश होगी तो पहाड़ों पर बर्फबारी भी अच्छी होने की संभावना होगी.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें