scorecardresearch
 

कवियत्री मधुमिता के हत्यारे को छूट देने के आरोप में पुलिसकर्मी निलंबित

कवियत्री मधुमिता शुक्ला हत्याकांड में सजायाफ्ता मुजरिम प्रकाश पांडे को गोरखपुर में पेशी के दौरान शराब पीने और दावत उड़ाने की छूट देने के आरोप में एक दरोगा सहित चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है.

कवियत्री मधुमिता शुक्ला हत्याकांड में सजायाफ्ता मुजरिम प्रकाश पांडे को गोरखपुर में पेशी के दौरान शराब पीने और दावत उड़ाने की छूट देने के आरोप में एक दरोगा सहित चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है.

पुलिस सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि देहरादून के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केवल खुराना ने प्रथम द्रष्टया आरोपों को सही पाये जाने के बाद दरोगा दिनेश सिंह और कांस्टेबल विजय प्रताप, महेंद्र सिंह और दीपक कुमार को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया. मई 2003 में लखनउ में हुए इस चर्चित हत्याकांड में उत्तराखंड उच्च न्यायालय से उम्रकैद की सजा पाये शूटर पांडे यहां की सुद्वोवाला जेल में बंद है. शनिवार को उसकी एक मामले में गोरखपुर की एक अदालत में पेशी थी, जिसके सिलसिले में देहरादून पुलिस का एक दल उसे लेकर गोरखपुर गया था.

आरोप है कि पेशी से लौटते वक्त पांडे गोरखपुर में ही एक पेट्रोल पंप पर रुका और वहां जमकर शराब पी और दावत उड़ायी. बाद में उसने पेट्रोल पंप पर हंगामा भी किया और देहरादून लौटने से ही मना कर दिया. पुलिस वालों के मानमनौव्वल पर किसी तरह वह यहां लौटा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें