scorecardresearch
 

NSA अजीत डोभाल और सेना प्रमुख ने पुस्तक 'हिल वॉरियर्स' का किया विमोचन

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने रविवार को 'हिल वॉरियर्स' पुस्तक का विमोचन किया. यह पुस्तक आज तक से जुड़े मंजीत सिंह नेगी ने लिखी है.

पुस्तक का विमोचन करते NSA अजीत डोभाल, जनरल बिपिन रावत व अन्य (फोटोः Aajtak.in) पुस्तक का विमोचन करते NSA अजीत डोभाल, जनरल बिपिन रावत व अन्य (फोटोः Aajtak.in)

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने शनिवार को दिल्ली स्थित आकाश एयरफोर्स ऑफिसर मेस के सभागार में 'हिल वॉरियर्स' पुस्तक का विमोचन किया. यह पुस्तक आज तक के संवाददाता मंजीत सिंह नेगी ने लिखी है. इस अवसर पर एनएसए अजीत डोभाल ने कहा कि यह पुस्तक आने वाली पीढ़ियों को यह प्रेरणा देना है कि मेहनत, लगन और ईमानदारी से किसी भी लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है. उन्होंने उम्मीद जताई कि पुस्तक आने वाली पीढ़ियों राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनने की प्रेरणा देने में सफल रहेगी.

एनएसए डोभाल ने कहा कि हमें यह समझना होगा कि अपनी मूल पहचान को हासिल की गई पहचान से नाम भी दे सकते हैं और शर्मसार भी कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि आगामी पीढ़ी को उत्तराखंड का निवासी होने पर गर्व हो, इस धरती का नाम ऊंचा करने की प्रेरणा मिले, इस पुस्तक के द्वारा यही प्रयास किया गया है. पुस्तक की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि प्रेरणा मेरे जीवन का मूल मंत्र रहा है. अगर मनुष्य किसी से प्रेरित हो जाए तो उसे  मंजिल के पास जाने की आवश्यकता नहीं रह जाती, मंजिल स्वयं उसके पास आती है.

इस पुस्तक की प्रस्तावना अंग्रेजी लेखक रस्किन बॉण्ड ने लिखी है. उन्होंने इसे उत्तराखंड की युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणादायक पुस्तक बताया है. लेखक मंजीत सिंह नेगी ने कहा कि यह पुस्तक लिखने की प्रेरणा मुझे पिछले पांच साल के दौरान एनएसए अजीत डोभाल, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सचिव भास्कर खुल्बे, कोस्ट गार्ड के महानिदेशक राजेंद्र सिंह और रॉ प्रमुख रहे अनिल धस्माना के कार्यकाल को एक पत्रकार के तौर पर नजदीक से देखने और कवर करने के दौरान हुए अनुभवों से मिली.

उन्होंने कहा कि अपनी पहली पुस्तक ‘केदारनाथ से साक्षात्कार’ लिखने के बाद मैंने ‘हिल वॉरियर्स’ लिखने का मन बना लिया, क्योंकि मैं इन लोगों के एक साथ शिखर पर पहुंचने की अद्भुत घटना का गवाह रहा. पुस्तक के कवर पेज पर नंदा देवी की तस्वीर का उल्लेख करते हुए नेगी ने कहा कि यह सभी हिल वॉरियर्स मां नंदा के वो सपूत हैं, जिन्होंने पहाड़ के मुश्किल हालात से निकलकर अपनी ईमानदारी और मेहनत के बल पर अलग मुकाम बनाया.

कार्यक्रम में कोस्ट गार्ड के पूर्व महानिदेशक राजेंद्र सिंह, रॉ के पूर्व प्रमुख अनिल धस्माना, एयर इंडिया के सीएमडी अश्विनी लोहानी, नेशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन के पूर्व प्रमुख आलोक जोशी और अवकाश प्राप्त कर्नल अजय कोठियाल आदि उपस्थित थे. बता दें कि हाफक्रो प्रकाशन से प्रकाशित हिल वॉरियर्स, मनजीत नेगी की दूसरी पुस्तक है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें