scorecardresearch
 

चमोली में सुबह ग्लेशियर फटा, करीब 150 लोग लापता, वाराणसी तक अलर्ट, जानें 10 बड़े अपडेट्स

धौलीगंगा नदी में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है. निचले इलाकों में हरिद्वार तक अलर्ट जारी किया गया है. आईटीबीपी, NDRF और SDRG की कई टीमें बचाव कार्य में जुटी हुई हैं. एयरफोर्स को भी अलर्ट पर रखा गया है. फिलहाल राहत-बचाव कार्य जारी है.  

X
आपदा के बाद राहत-बचाव कार्य जारी है आपदा के बाद राहत-बचाव कार्य जारी है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • निचले इलाकों में हरिद्वार तक अलर्ट जारी किया गया
  • ऋषिगंगा प्रोजेक्ट पर काम कर रहे 150 लोग लापता
  • तपोवन टनल में फंसे 16 लोगों को सुरक्षित बचाया

उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर फटने से बड़ी त्रासदी हुई है. जोशीमठ के तपोवन इलाके में ग्लेशियर फटने से ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट को भारी नुकसान पहुंचा है. इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे करीब 150 लोग लापता हैं. धौलीगंगा नदी में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है. निचले इलाकों में हरिद्वार तक अलर्ट जारी किया गया है. आईटीबीपी, NDRF और SDRG की कई टीमें बचाव कार्य में जुटी हुई हैं. एयरफोर्स को भी अलर्ट पर रखा गया है. फिलहाल राहत-बचाव कार्य जारी है.  

1- रविवार को सुबह करीब 9.30 बजे के आस-पास जोशीमठ में तपोवन इलाके में ग्लेशियर फटा था. इस हादसे के बाद  से अलकनंदा नदी और धौलीगंगा नदी में हिमस्खलन और बाढ़ के चलते आसपास के लोगों को हटाया जा रहा है. कई घरों के बहने की आशंका भी जताई जा रही है. तपोवन टनल में फंसे 16 लोगों को सुरक्षित बचाया गया है.

2- इस आपदा से ऋषि पावर प्रोजेक्ट गंगा को भारी नुकसान हुआ है. इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे करीब 150 लोग लापता बताए जा रहे हैं. जोशीमठ की एसडीएम कुमकुम जोशी ने कहा कि पावर प्रोजेक्ट बर्बाद हो चुका है. पूरी नदी मलबे में तब्दील हो गई है और मलबा धीरे-धीरे बह रहा है.

3- आईटीबीपी, NDRF और SDRG की कई टीमें मौके पर रवाना हुई हैं. श्रीनगर, ऋषिकेश और हरिद्वार में अलर्ट है. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जायजा लेने पहुंच गए हैं. गृह मंत्रालय पूरी स्थिति को मॉनिटर कर रहा है. 

4- मलारी को जोड़ने वाला पुल बह गया है. ये पुल सरहद से सेना को जोड़ने का काम करता है. राहत-बचाव के लिए आईटीबीपी के रीजनल रिस्पांस सेंटर, गोचर से एक बड़ी टीम रवाना की गई है. आईटीबीपी की पर्वतारोही टीम के साथ तुरंत ब्रिज बनाने में माहिर जवान भी भेजे गए हैं. 

5- वहीं, उत्तराखंड सरकार ने जिला प्रशासन, पुलिस विभाग और आपदा प्रबंधन विभाग को आपदा से निपटने के आदेश दिए हैं. एसडीआरएफ और लोकल प्रशासन राहत और बचाव कार्य में जुटा हुआ है. संपर्क के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिया गया है 1070 या 9557444486.  

6- एहतियातन भागीरथी नदी का फ्लो रोक दिया गया है. अलकनंदा का पानी का बहाव रोका जा सके, इसलिए श्रीनगर डैम और ऋषिकेश डैम को खाली करा दिया गया है. बताया जा रहा है कि नंदप्रयाग से आगे अलकनंदा नदी का बहाव सामान्य हो गया है. नदी का जलस्तर सामान्य से अब 1 मीटर ऊपर है, लेकिन बहाव कम होता जा रहा है. 

7- NDRF की कुछ और टीमें दिल्ली से एयरलिफ्ट करके उत्तराखंड भेजी जा रही हैं.  NDRF के 200 जवान पहले ही भेज दिए गए थे. एयरफोर्स को भी अलर्ट पर रखा गया है.

8- NDRF DG के मुताबिक, चमोली और जोशीमठ के आसपास ग्लेशियर फटने से बांध पर असर हुआ है. ग्लेशियर ऋषिगंगा पर आकर गिरा है, बीआरओ द्वारा जो ब्रिज बनाया जा रहा था उस पर भी असर हुआ है. 

9- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से बात की. उन्होंने बचाव और राहत कार्य का जायज़ा लिया. अधिकारी प्रभावित लोगों को हर संभव मदद प्रदान करने के लिए काम कर रहे हैं. 

10- इस आपदा के बाद यूपी में भी अलर्ट जारी किया गया है. गंगा किनारे वाले जिलों में प्रशासन को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है. यूपी के बिजनौर, कन्नौज, फतेहगढ़, प्रयागराज, कानपुर, मिर्ज़ापुर, गढ़मुक्तेश्वर, गाजीपुर, वाराणसी में हाई अलर्ट जारी किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें