scorecardresearch
 

गायों के लिए कब्रगाह बना CM योगी का ड्रीम प्रोजेक्ट कान्हा उपवन, 100 गायों की मौत

उत्तर प्रदेश के बरेली में 15 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट का कान्हा उपवन अब गायों के लिए कब्रगाह बन गया है. यहां अब तक 100 से अधिक गायों की मौत हो चुकी है. जिसके बाद मेयर ने मुख्यमंत्री से मामले की लिखित शिकायत की है.

योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो) योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

  • कान्हा उपवन में 100 से ज्यादा गायों की मौत
  • मेयर ने सीएम योगी से की शिकायत तो जागे अफसर

उत्तर प्रदेश के बरेली में 15 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट का कान्हा उपवन अब गायों के लिए कब्रगाह बन गया है. यहां अब तक 100 से अधिक गायों की मौत हो चुकी है. जिसके बाद मेयर ने मुख्यमंत्री से मामले की लिखित शिकायत की है.

मरी हुई गायों के शव को जेसीबी से उठाकर ले जाया गया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत बना कान्हा उपवन सीबीगंज के नदौसी में स्थित है. बता दें कि कान्हा उपवन का उद्घाटन कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने पिछले साल ही किया था.

उद्घाटन के एक साल बाद ही कान्हा उपवन की स्थिति बिल्कुल बदल गई है. यहां पिछले कुछ समय में 100 से अधिक गायों की मौत हो चुकी है.

पिछले 8 दिनों में मेयर उमेश गौतम ने दो बार अचानक छापा मारा तो यहां की तस्वीरें देख वो विचलित हो गए. जगह-जगह गायों के कंकाल पड़े थे. कहीं घायल गाय थी तो कहीं गायों के शव पड़े हुए थे. मौजूदा समय में हालत ये है कि कान्हा उपवन में रोजाना 2-3 गायों की मौत हो रही है.

वहीं जब मेयर उमेश गौतम ने मामले की शिकायत सीएम योगी से की तो बरेली में बैठे अफसरों में हड़कंप मच गया. सीएम योगी ने मामले को संज्ञान में लेकर डीएम से जानकरी मांगी है. इसके बाद डीएम ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को गायों की जांच के लिए भेजा है, जिससे वो पता करें कि गायों की मौत आखिर क्यों हो रही है. खुद डीएम वीरेंद्र कुमार सिंह और नगर आयुक्त ने कान्हा उपवन का निरीक्षण किया.

गौरतलब है कि गायों की मौत के प्रकरण में सीएम योगी महराजगंज के डीएम समेत कई अफसरों के खिलाफ कार्रवाई कर चुके हैं. ऐसे में अब अफसरों को ये डर है कि कहीं उनके खिलाफ भी कोई कार्रवाई न हो जाए. यही कारण है कि अब अफसर लगातार कान्हा उपवन का निरीक्षण करने में जुटे हुए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें