scorecardresearch
 

राम-कृष्ण का जिक्र कर प्रियंका ने CM योगी पर साधा निशाना, भगवा वस्त्र का मतलब समझाया

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा. इस दौरान उन्होंने द्वापरयुग में भगवान श्रीकृष्ण के प्रसंग का जिक्र करते हुए कहा कि यह देश करुणा का है, जहां बदले की भावना से काम नहीं किया जाता है. देश के इतिहास में संभवत: ऐसा पहली बार हुआ जब एक सीएम ने कहा कि बदला लिया जाएगा.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फोटो-PTI) कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फोटो-PTI)

  • प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ पर साधा निशाना
  • प्रियंका ने योगी को बताये हिंदू धर्म के मायने

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी को लेकर उत्तर प्रदेश में हुए विरोध हिंसक प्रदर्शन के दौरान पुलिसिया कार्रवाई को लेकर कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जमकर हमले किए. प्रियंका गांधी ने द्वापरयुग में भगवान श्रीकृष्ण के एक प्रसंग का जिक्र करते हुए कहा कि यह देश करुणा का है, जहां बदले की भावना से काम नहीं किया जाता है. देश के इतिहास में संभवत: ऐसा पहली बार हुआ जब एक सीएम ने कहा कि बदला लिया जाएगा.

प्रियंका ने कहा कि यह देश कृष्ण और भगवान राम का है, जो करुणा और त्याग के प्रतीक हैं. लेकिन योगी जी बदले की बात करते हैं. वह भगवा कपड़े पहनते हैं, लेकिन यह भगवा उनका निजी नहीं, बल्कि हिंदू धर्म का प्रतीक है. ऐसे में उन्हें हिंदू धर्म के मायने को समझना चाहिए.

हिन्दुस्तान की आस्था है भगवा

प्रियंका ने कहा कि हमारे यहां शिव की बारात में सब नाचते हैं. इस देश की आत्मा में 'बदला' जैसे शब्द की जगह नहीं है, श्रीकृष्ण ने कभी बदले की बात नहीं की. इस प्रदेश के सीएम योगी के वस्त्र पहनते हैं, ये भगवा आपका नहीं है. ये भगवा हिंदुस्तान की धार्मिक आस्था का प्रतीक है, उस धर्म का पालन करना सीखिए. हिंदू धर्म में हिंसा और रंज का कोई स्‍थान नहीं है. उन्होंने कहा कि यूपी के सीएम योगी ने भगवा धारण किया है. ये भगवा आपका नहीं है. प्रियंका ने कहा कि मुख्यमंत्री ने बयान दिया था कि वो बदला लेंगे, उसी बयान पर पुलिस चल रही है.

प्रिंयका ने कहा कि हिंसा पर पुलिस अपनी कार्रवाई को रोके. इसके अलावा आरोप साबित हुए बिना संपत्ति जब्‍त करने की कार्रवाई न हो. हाई कोर्ट के जज से हिंसा की जांच कराई जाए. इससे पहले कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने आज राज्यपाल से मुलाकात की और प्रदेश में सीएए और एनआरसी के खिलाफ हुए प्रदर्शनों के दौरान पुलिस की बर्बरता की न्यायिक जांच कराने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा.

मेरी सुरक्षा कोई मुद्दा ही नहीं

सीआरपीएफ के बयान पर प्रियंका गांधी ने कोई भी जवाब देने से मना कर दिया. उन्‍होंने कहा कि प्रदेश की समस्‍याओं के सामने मेरी सुरक्षा का मुद्दा बहुत छोटा है. प्रियंका ने कहा कि मेरी सुरक्षा से जनता का लेना-देना नहीं है. उन्‍होंने कहा कि अगर स्‍कूटी का चालान हो गया है तो हम जुर्माना भर देंगे. प्रियंका बोलीं कि कई ऐसे लोग गुमनाम तरीके से जेल में डाले गए हैं, इस चिट्ठी में पुलिस प्रशासन खुद गलत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें