scorecardresearch
 

अमेठी DM को स्मृति ईरानी की सलाह- हम जनता के सेवक, शासक नहीं

स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर डीएम अमेठी को संवेदनशील बनने की सलाह दी है. सांसद ईरानी ने ट्विटर पर लिखा है, "विनय शील एवं संवेदनशील बने हम यही प्रयास होना चाहिए. जनता के हम सेवक हैं, शासक नहीं".

अमेठी सांसद स्मृति ईरानी (फोटो: PTI) अमेठी सांसद स्मृति ईरानी (फोटो: PTI)

  • अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी ने जिले के डीएम को दी सलाह
  • ट्वीट कर उन्होंने कहा, जनता के हम सेवक हैं, शासक नहीं

अमेठी एक बार फिर सुर्खियों में है. इस बार अमेठी के मौजूदा डीएम प्रशांत कुमार का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे अपना आपा खोते हुए नजर आ रहे हैं. यह वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस मामले में स्थानीय सांसद स्मृति ईरानी ने भी हस्तक्षेप किया है.

स्मृति ईरानी ने अमेठी डीएम को दी सलाह

स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर डीएम अमेठी को संवेदनशील बनने की सलाह दी है. सांसद ईरानी ने ट्विटर पर लिखा है, "विनय शील एवं संवेदनशील बने हम यही प्रयास होना चाहिए. जनता के हम सेवक है, शासक नहीं".

आपा खो बैठे थे अमेठी के डीएम

जानकारी के मुताबिक अमेठी जिलाधिकारी प्रशांत कुमार उस वक्त अपना आपा खो बैठे थे जब वे अमेठी में हुए एक हत्याकांड के बाद पोस्टमॉर्टम के दौरान उग्र हुए परिजनों को समझाने की कोशिश कर रहे थे.

मंगलवार को हुई थी हत्या

अमेठी में मंगलवार देर शाम सोनू सिंह को दबंगों ने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था. पूरा मामला गौरीगंज कोतवाली थाना क्षेत्र के बिसुनदासपुर गांव का है. मृतक भट्टा व्यवसायी था. गौरतलब है कि गंभीर मामला देख मौके पर पहुंची एसपी ख्याति गर्ग को भी परिजनों के विरोध का सामना करना पड़ा था.

परिजन और ग्रामीण एसपी की मौजूदगी में पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते रहे थे. बताया जा रहा है कि मृतक के परिजनों को राजनीतिक पार्टियों के नेताओं का समर्थन भी मिल रहा है. इसी वजह से पोस्टमॉर्टम के बाद मृतक सोनू सिंह का शव घर पहुंचते ही गांव में तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल भी लगाया गया था. इस मामले में परिजनों ने पांच लोगों के खिलाफ थाने में नामजद तहरीर दी है. तहरीर के आधार पर पुलिस हत्यारोपियों की तलाश में जुटी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें