scorecardresearch
 

सेटेलाइट फोन की फ्रिक्वेंसी मिलने से हडकंप

पश्चिमी यूपी के जिले शामली में सेटेलाइट फोन की फ्रिक्वेंसी मिलने से खुफिया तंत्र में अफरातफरी का आलम है. सेटेलाइट के जरिए जिले में आतंकी गतिविधियों की आशंका जताई जा रही है.

पश्चिमी यूपी के जिले शामली में सेटेलाइट फोन की फ्रिक्वेंसी मिलने से खुफिया तंत्र में अफरातफरी का आलम है. सेटेलाइट के जरिए जिले में आतंकी गतिविधियों की आशंका जताई जा रही है.

गौरतलब है कि सांप्रदायिक हिंसा के बाद जिले में आतंकी गतिविधियों के सुराग मिले हैं. दिल्ली पुलिस द्वारा पकड़े गए मेवात मॉड्यूल के आतंकियों ने भी शामली और मुजफ्फरनगर जिलों में आतंकी गतिविधियों की सक्रियता का खुलासा किया है. सेटेलाइन का संपर्क मोबाइल टावरों की बजाय सीधे उपग्रह से होता है. देश में अमूमन सेटेलाइट का प्रयोग देश की सुरक्षा एजेंसियों, वैज्ञानिकों, सेना और विशेष परिस्थितियों में पुलिस महकमे को ही मान्य है. हालांकि आतंकी गतिविधियों में इसका इस्तेमाल होना आम बात है.

पिछले आठ-दस दिनों में सुरक्षा एजेंसियों ने शामली जिले में सेटेलाइट की फ्रिक्वेंसी को ट्रेस किया है. एजेंसियों ने जिले के खुफिया अफसरों को इसकी सूचना देते हुए सेटेलाइट की कोडिंग भी उपलब्ध कराई है. जिले के खुफिया तंत्र के एक अधिकारी ने इसकी पुष्ट‍ि करते हुए बताया कि विदेशी टूरिस्ट भी अपने साथ अक्सर सेटेलाइट लेकर आते हैं. यह हो सकता है कि जिले की हरियाणा और सहारनपुर सीमा से गुजरते समय किसी टूरिस्ट ने सेटेलाइट फोन का प्रयोग किया हो. फिलहाल खुफिया तंत्र ने इसे गंभीरता से लेते हुए जिले की प्रत्येक गतिविधियों पर निगाह बनाए हुए है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें