scorecardresearch
 

कमलेश की मां बोलीं- पुलिस दबाव में CM से मिले, इंसाफ नहीं मिला तो उठाएंगे तलवार

कमलेश तिवारी की मां कुसुम तिवारी ने कहा कि दबाव के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात हुई. उन्होंने कहा कि पुलिसवाले बार-बार दबाव डाल रहे थे और हमें जबरदस्ती लखनऊ लाया गया.

सीएम योगी से मिले कमलेश तिवारी के परिजन सीएम योगी से मिले कमलेश तिवारी के परिजन

  • 18 अक्टूबर को हुई थी कमलेश तिवारी की हत्या
  • कमलेश तिवारी के परिजनों ने CM से की मुलाकात

हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी के परिजनों ने रविवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. परिवार ने हत्यारों के लिए मौत की सजा की मांग की है. सीएम योगी से मुलाकात के बाद कमलेश तिवारी की मां असंतुष्ट दिखाई दीं और उन्होंने चौंकाने वाला बयान दिया है.

कमलेश तिवारी की मां कुसुम तिवारी ने कहा कि दबाव के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात हुई. उन्होंने कहा कि पुलिसवाले बार-बार दबाव डाल रहे थे और हमें जबरदस्ती लखनऊ लाया गया. मुख्यमंत्री योगी से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि मैं संतुष्ट नहीं हूं.

कमलेश तिवारी की मां ने कहा कि हिंदू धर्म में 13 दिन तक कहीं नहीं जाते लेकिन हमें जबरदस्ती सीतापुर से लखनऊ लाया गया. कमलेश की मां कुसुम तिवारी ने यह भी कहा कि अगर इंसाफ नहीं मिला तो हम तलवार उठाएंगे.

mos_102019065911.jpg

परिजनों ने सीएम योगी से की मुलाकात

हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी मर्डर के मामले में इंसाफ की आस लेकर उनके परिजनों ने रविवार को राजधानी लखनऊ स्थित सीएम आवास में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. जिसके बाद परिजनों ने बताया कि योगी आदित्यनाथ ने जल्द से जल्द हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग और परिवार को सुरक्षा की मांग मान ली है.

परिजनों को चाहिए इंसाफ, नहीं कोई लालच

सीएम योगी से मुलाकात के बाद कमलेश तिवारी के बेटे सत्यम ने बताया कि योगी ने मुलाकात के दौरान उन्होंने किसी अन्य मांग की बात नहीं की. वहीं पत्नी किरण तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने न्याय का भरोसा दिया है, परिवार को न्याय जरूर मिलेगा. परिजनों का कहना है कि उन्हें किसी और चीज का लालच नहीं है.

कमलेश की मां ने योगी सरकार पर लगाया था ये आरोप

बता दें कि कमलेश तिवारी की मां कुसुम तिवारी ने शनिवार को आज तक से बातचीत में अपने बेटे की हत्या के लिए पूरी योगी सरकार को जिम्मेदार बताया था. उन्होंने कहा था कि योगी सरकार में कमलेश की सुरक्षा लगातार कम की गई. अखिलेश यादव की सरकार में कमलेश को 17 सुरक्षाकर्मी मिले थे. जो कम होते-होते आठ तक पहुंच गए थे. कुसुम तिवारी ने कहा कि जिस दिन कमलेश की हत्या हुई, उस दिन एक भी सुरक्षाकर्मी उनके साथ नहीं था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें