scorecardresearch
 

बुलंदशहर हिंसा: एक और वीडियो वायरल, गोली लगने से पहले पत्थरबाजी करते दिखा सुमित

चौकी में आगजनी और सुमित को गोली लगने का वीडियो वायरल हो चुका है. बुधवार को एक और कथित वीडियो जारी हुआ, जिसे सुमित को गोली लगने की घटना से पहले का बताया जा रहा है.

बुलंदशहर हिंसा (फाइल फोटो- PTI) बुलंदशहर हिंसा (फाइल फोटो- PTI)

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में कथित गोकशी के बाद हुई हिंसा के मामले में एक और वीडियो वायरल हुआ है. इस वीडियो में हिंसा के दौरान मारा गया युवक सुमित अन्य युवकों के साथ पुलिस पर पथराव करता नजर आ रहा है. घटना में मारे गए युवक सुमित का वीडियो असली है या एडिट कर वायरल किया गया है, इसकी अभी तक कोई पुष्टि नहीं हो सकी है.

स्याना क्षेत्र के पुलिस क्षेत्राधिकारी सत्यप्रकाश शर्मा ने न्यूज एजेंसी भाषा से बातचीत में कहा कि उनके संज्ञान में भी ऐसा वीडियो आया है. उन्होंने कहा कि जब तक वीडियो की सत्यता की जांच ना हो तब तक इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है.

वायरल हो चुके कई वीडियो

गौरतलब है कि 3 दिसंबर को स्याना बवाल के बाद सोशल मीडिया पर लगातार घटना से संबंधित वीडियो वायरल हो रहे हैं. इसमें इंस्पेक्टर सुबोध को मारकर भागते युवकों का वीडियो, गोकशी को लेकर हंगामा करते युवकों का वीडियो, पुलिस का लाठीचार्ज, चौकी में आगजनी और सुमित को गोली लगने का वीडियो वायरल हो चुका है. बुधवार को एक और कथित वीडियो जारी हुआ, जिसे सुमित को गोली लगने की घटना से पहले का बताया जा रहा है.

इस वीडियो में कुछ युवक पुलिस पर पथराव करते दिखाई दे रहे हैं. इन युवकों में सुमित को भी शामिल दिखाया गया है, जो पुलिस पर पथराव करता नजर आ रहा है. इसके बाद सुमित को गोली लगने, पुलिसकर्मियों के भागने और युवकों द्वारा सुमित को इलाज के लिए ले जाने का वीडियो है. यह वीडियो असली है या एडिट कर वायरल किया गया है, इस बारे में मृतक सुमित के परिजनों का भी अभी तक कोई बयान नहीं आया है.

गौरतलब है कि सुमित की मौत के बाद उसके परिजनों ने बताया कि सुमित ने पुलिस भर्ती की परीक्षा भी दी थी, जिसका परिणाम आने वाला है. सोमवार दोपहर सुमित का एक दोस्त अरविंद के उसके घर पर शादी का कार्ड देने के लिए आया था. चाय पीने के बाद वह दोस्त को बाइक पर लेकर चिंगरावठी पुलिस चौकी के सामने बस स्टॉप पर छोड़ने चला गया. थोड़ी ही देर बाद उसके गोली लगने की सूचना परिजनों को मिली.

वहीं स्थानीय पुलिस का कहना है कि पहली फायरिंग ग्रामीणों की तरफ से हुई थी जबकि पुलिस की तरफ से हवा में फायरिंग की गई थी. एफआईआर में भी ये बात कही गई है. उन्होंने कहा कि इस घटना में सुमित की भी मौत हुई है और उसकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गोली लगने से मौत की पुष्टि हुई है. एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार के मुताबिक इस पूरे मामले की जांच की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें