scorecardresearch
 

बाराबंकी: थाने में पहले की बलात्‍कार की कोशिश फिर महिला को जलाया, मौत, दो पुलिसवाले सस्‍पेंड

यूपी के बाराबंकी में कथित तौर पर थाने के अंदर जलाई गई महिला की लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में मौत हो गई है. पीड़ित महिला एक पत्रकार की मां थी.

Symbolic Image Symbolic Image

यूपी के बाराबंकी में कथित तौर पर थाने के अंदर जलाई गई महिला की लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में मौत हो गई है. पीड़ित महिला एक पत्रकार की मां थी. उसका आरोप था कि पुलिस लॉकअप से अपने पति को छुड़ाने के लिए रिश्वत देने से इनकार करने पर पेट्रोल छिड़कर उसे आग के हवाले कर दिया गया था. इस मामले में थाना प्रभारी और उप-निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, गंभीर रूप से झुलसी महिला नीतू द्विवेदी ने मजिस्ट्रेट के सामने दिए बयान में कहा कि सोमवार सुबह वह लॉकअप में बंद अपने पति रामनारायण को छुड़ाने के लिए कोठी थाने पहुंची थी. वहां थानेदार राम साहब सिंह यादव और उप-निरीक्षक अखिलेश राय ने उससे एक लाख रुपये की मांग की.

सवाल है कि महिला जली या जलाई गई
महिला ने अपने बयान में कहा था कि पैसा देने से इंकार करने पर दोनों पुलिसवालों ने उसके साथ गाली-गलौज की, बलात्कार की कोशिश भी की और आखिरकार उसके शरीर पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी . इस पर पुलिस का कहना है कि महिला ने पुलिसकर्मियों के कथित अभद्र व्यवहार से क्षुब्ध होकर आत्मदाह करने की कोशिश की है.

दोनों पुलिसवाले निलंबित
पुलिस अधीक्षक अब्दुल हमीद ने बताया है कि इस घटना की गंभीरता और महिला के आरोपों को देखते हुए कोठी थाने के प्रभारी यादव और उप-निरीक्षक अखिलेश राय के खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज करके निलंबित कर दिया गया है. मामले की जांच की जा रही है. इलाके में तनाव को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

नेता दे रहे जांच का भरोसा
सपा के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मामले की गहराई से जांच की जाएगी. जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें