scorecardresearch
 

UP: औरेया सड़क हादसे में 24 मजदूरों की मौत, CM योगी ने दिए जांच के आदेश

घटना शनिवार तड़के 3.30 तीन बजे की है. 24 मजदूरों की मौत घटनास्थल पर हो गई जबकि कई लोग घायल हो गए. घटना के वक्त अंधेरा था, इसलिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने में काफी दिक्कत आई. प्रशासन के साथ आसपास के लोगों ने मदद की और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया.

घटनास्थल पर मौजूद पुलिस प्रशासन के अधिकारी (ANI) घटनास्थल पर मौजूद पुलिस प्रशासन के अधिकारी (ANI)

  • नींद में था ट्रक ड्राइवर, डीसीएम में मारी टक्कर
  • घटना में 24 मजदूरों की मौत, कई लोग जख्मी

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में प्रवासी मजदूरों से भरी गाड़ी में ट्रक ने टक्कर मार दी जिससे 24 मजदूरों की मौत हो गई. इस घटना में 15 लोग घायल हैं. घायलों को जिला अस्पताल व सैफ़ई पीजीआई भेजा गया है. जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घायलों को रेस्क्यू कराया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं.

शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक, डीसीएम में ट्रक ने टक्कर मार दी जिसमें 24 लोगों की मौत हो गई जबकि 15 लोग लोग घायल हैं. सभी घायलों को जिला अस्पताल रेफर किया गया है. औरेया की एसपी सुनीति सिंह और कई थानों की पुलिस मौके पर मौजूद है. पुलिस राहत और बचाव कार्य में जुटी है. जो लोग गंभीर रूप से घायल हैं उनको कानपुर के हैलट अस्पताल में रेफर किया गया है. घटना को देखते हुए मृतकों की संख्या में इजाफा होने की आशंका जताई जा रही है.

हादसे के बारे में यूपी पुलिस ने कहा, औरेया ट्रक हादसे में कम से कम 24 मजदूरों की मौत हुई है और 15 घायल हैं. औरेया के मिहौली इलाके में सुबह 3 से 3.30 बजे के बीच यह घटना हुई. ट्रेलर ट्रक में तकरीबन 50 मजदूर सवार थे. यह गाड़ी राजस्थान से आ रही थी. दिल्ली की तरफ से आ रही डीसीएम वैन से इसकी टक्कर हो गई.

घटना के वक्त अंधेरा था, इसलिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने में काफी दिक्कत आई. प्रशासन के साथ आसपास के लोगों ने मदद की और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया.

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर गहरा दुख जताया है और पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना जाहिर की है. मुख्यमंत्री ने सभी घायलों को फौरन उचित इलाज मुहैया कराने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने कानपुर के कमिश्नर और आईजी को निर्देश दिया के वे घटनास्थल का दौरा करें और जल्द से जल्द घटना के कारणों की रिपोर्ट दें. मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं.

हाल के दिनों में घटनाएं बढ़ीं

हाल के दिनों में पैदल घर के लिए निकले मजदूरों के साथ कई घटनाएं हुई हैं. दो दिन पहले यूपी के मुजफ्फरनगर और मध्य प्रदेश के गुना में ऐसी ही घटनाएं हुईं जिसमें कई मजदूर मौत के शिकार हुए और कई घायल हुए. शुक्रवार को एक घटना महोबा में सामने आई. महोबा जिले के झांसी-मिर्जापुर हाइवे पर शुक्रवार को गुजरात से झारखंड जा रहा मजदूरों से भरा ट्रक अनियंत्रित होकर हाइवे किनारे पलट गया. इस दुर्घटना में ट्रक पर सवार झारखंड के सभी 67 मजदूर बाल-बाल बच गए. तीन मजदूरों को मामूली चोटें आईं जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया.

इससे पहले मुजफ्फरनगर में बुधवार देर रात 6 मजदूरों की मौत हो गई थी. मजदूरों को कुचलने वाले रोडवेज बस के ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है. मेडिकल रिपोर्ट में पता चला है कि ड्राइवर नशे में था. फिलहाल, पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस का कहना है कि बुधवार रात करीब 22.30 बजे रोहना टोल की तरफ आ रही रोडवेज बस आ रही थी. बस का ड्राइवर नशे में था और बस को तेजी व लापरवाही से चला रहा था. उसने पैदल घर जा रहे मजदूरों को रौंद दिया. इस हादसे में 6 मजदूरों की मौत हो गई, जबकि 4 मजदूर घायल हो गए हैं. दो की हालत गंभीर है.

ऐसा ही एक हादसा आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में हुआ. यहां पर 30 मजदूरों को ले जा रहा एक ट्रैक्टर हाई टेंशन पोल की चपेट में आ गया. इस हादसे में 9 मजदूरों की मौत हो गई, जबकि कई घायल बताए हैं. घायलों को इलाज के लिए पास के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें