scorecardresearch
 

माया के बयान पर बोले अखिलेश- हर हाल में होगा गठबंधन चाहे दो कदम पीछे हटना पड़े

बसपा सुप्रीमो मायावती ने रविवार को कहा था कि गठबंधन तभी होगा जब उनकी पार्टी को सम्मानजनक सीटों पर लड़ने का मौका मिलेगा, वरना वो अकेली ही चुनाव में उतरेंगी. यहां तक कि उन्होंने यह भी कह दिया था कि लोग राजनीतिक लाभ के लिए उन्हें बुआ कहते हैं.

X
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव

महागठबंधन पर सम्मानजनक सीटों की शर्त वाले बसपा सुप्रीमो मायावती के बयान पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रतिक्रिया दी है. अखिलेश ने कहा है कि देश की जनता बदलाव चाहती है और भारतीय जनता पार्टी को सत्ता से हटाने के लिए वह हर हाल में गठबंधन करेंगे.

अखिलेश ने लखनऊ में कहा कि देश की जनता बदलाव चाहती है और बीजेपी घबराई हुई है. उन्होंने कहा, 'सभी चाहते हैं बीजेपी हटे, आने वाले समय में आप लोग देखेंगे बहुत अच्छा गठबंधन होगा.'

सपा अध्यक्ष ने जोर देकर कहा कि बीजेपी को हटाने के लिए सपा गठबंधन करेगी, चाहे इसके लिए दो कदम पीछे क्यों ना हटना पड़े. सपा प्रमुख का यह बयान बसपा अध्यक्ष मायावती के उस बयान के एक दिन बाद आया है जिसमें उन्होंने सम्मानजनक' संख्या में सीटें मिलने पर ही किसी दल से गठबंधन करने की बात कही थी.

अखिलेश ने पार्टी मुख्यालय में विश्वकर्मा जयन्ती पर आयोजित कार्यक्रम के बाद कहा कि जाति आधारित जनगणना के आधार पर हक और सम्मान मिलना चाहिए. इस व्यवस्था के बिना विषमता दूर नहीं हो सकती है. विश्वकर्मा समाज को राजनैतिक फैसलों के साथ रहना होगा. बदलाव के साथ तरक्की के लिए समाजवादी रास्ता अपनाना होगा.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा की सरकार में विश्वकर्मा जयंती पर अवकाश घोषित किया गया था. समाजवादी सरकार फिर बनने पर ना केवल अवकाश घोषित होगा बल्कि भगवान विश्वकर्मा के नाम पर गोमती रिवरफ्रंट पर एक सुन्दर स्थल तथा मंदिर भी बनाया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें