scorecardresearch
 

हैदराबादः भीम आर्मी के चंद्रशेखर गिरफ्तार, CAA के खिलाफ करने वाले थे जनसभा

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को हैदराबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है. वह  NRC,CAA,NPR के खिलाफ जनसभा को संबोधित करने के लिए हैदराबाद पहुंचे थे. 

NRC,CAA, NPR के खिलाफ जनसभा को संबोधित करने वाले हैं चंद्रशेखर (फाइल फोटो-ANI) NRC,CAA, NPR के खिलाफ जनसभा को संबोधित करने वाले हैं चंद्रशेखर (फाइल फोटो-ANI)

  • दिल्ली के बाद हैदराबाद में चंद्रशेखर की दूसरी गिरफ्तारी
  • धरना-प्रदर्शन की हैदराबाद पुलिस ने नहीं दी थी इजाजत

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को हैदराबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है. वह  NRC, CAA, NPR के खिलाफ जनसभा को संबोधित करने के लिए हैदराबाद पहुंचे थे. हैदराबाद पुलिस ने कहा है कि चंद्रशेखर को लंगरहाउस पुलिस थाना सीमा में सीएए और एनआरसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान उन्हें हिरासत में लिया गया. वह प्रदर्शन में शामिल थे. प्रदर्शनकारियों को विरोध-प्रदर्शन के लिए पुलिस की कोई अनुमति नहीं मिली थी.

बाद में हैदराबाद पुलिस ने चंद्रशेखर को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक चंद्रशेखर हैदराबाद में NRC, CAA, NPR के खिलाफ आयोजित विरोध प्रदर्शन में शामिल होना चाह रहे थे.

इससे पहले चंद्रशेखर ने हैदराबाद पहुंचने की जानकारी ट्विटर पर साझा की थी. उन्होंने लिखा, जनआंदोलन को मजबूत करने के लिए मैं पहली बार हैदराबाद आ रहा हूं. संविधान की रक्षा के लिए गणतंत्र दिवस पर हम सभी बहुजन समाज के लोग एकजुट होकर संविधान की प्रस्तावना पढ़ेंगे और संविधान रक्षा की शपथ लेंगे. जय भीम, जय भीम आर्मी.

ये भी पढ़ेंः प्रदर्शनकारियों के बीच भीम आर्मी चीफ, बोले- देश में अगले 10 दिन में बनेंगे 5000 'शाहीन बाग'

चंद्रेशखर ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, मैं अभी 4 बजे क्रिस्टल गार्डन मेहदी पटनम हैदराबाद पहुंच रहा हूं. लेकिन हैदराबाद पुलिस का हाल देख लीजिए उस जगह को पुलिस छावनी बना दिया है और लोगों को जबर्दस्ती कार्यक्रम स्थल पर जाने से रोका जा रहा है.

ये भी पढ़ेंः CAA के खिलाफ SC पहुंचे चंद्रशेखर आजाद, कानून को बताया SC-ST विरोधी

 बता दें कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल होने के लिए बुधवार को भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद दिल्ली शाहीन बाग पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार पर बड़ा हमला बोला था. चंद्रशेखर आजाद ने कहा, 'हमने अभी तक इतिहास में जलियांवाला बाग सुना था. अब शाहीन बाग सुना है. यह गैर राजनीतिक आंदोलन है. ऐसा आंदोलन बार-बार नहीं होता है. अब अगले 10 दिन में शाहीन बाग जैसे 5000 प्रदर्शन स्थल बनाए जाएंगे.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें