scorecardresearch
 

योगी आदित्यनाथ के शर्मनाक बोल, 'जहां 10 फीसदी से ज्यादा मुसलमान, वहीं होते हैं दंगे'

गोरखपुर से बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ ने एक और विवादास्पद बयान दिया है. उन्होंने उत्तर प्रदेश में हुए सभी दंगों के लिए मुसलमानों को जिम्मेदार ठहरा दिया है. याद रहे कि हाल ही में बीजेपी ने उनकी जिम्मेदारी बढ़ाते हुए 11 सीटों पर होने वाले आगामी उपचुनाव का प्रभारी बनाया है.

X
Yogi Adityanath
Yogi Adityanath

गोरखपुर से बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ ने एक और विवादास्पद बयान दिया है. उन्होंने उत्तर प्रदेश में हुए सभी दंगों के लिए मुसलमानों को जिम्मेदार ठहरा दिया है. याद रहे कि हाल ही में बीजेपी ने उनकी जिम्मेदारी बढ़ाते हुए 11 सीटों पर होने वाले आगामी उपचुनाव का प्रभारी बनाया है.

अंग्रेजी अखबार 'द इंडियन एक्सप्रेस' ने खबर दी है कि योगी आदित्यनाथ ने एक टीवी चैनल से बातचीत में यह विवादास्पद बात कही. उन्होंने दंगा प्रभावित जगहों की तीन श्रेणियां बताईं. उन्होंने कहा, 'जहां 10 से 20 फीसदी अल्पसंख्यक हैं, वहां सांप्रदायिक हिंसा की छोटी-मोटी घटनाएं होती हैं. जहां 20 से 35 फीसदी अल्पसंख्यक हैं वहां बड़े सांप्रदायिक दंगे होते हैं और जहां अल्पसंख्यकों की आबादी 35 फीसदी से ज्यादा है वहां गैर-मुसलमानों के लिए कोई जगह नहीं है.'

'संन्यासी दे सकता है दंड'
गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ कट्टर हिंदुत्व के समर्थक माने जाते हैं और कई बार विवादित बयान दे चुके हैं. हाल ही में उनके उस बयान पर बवाल हुआ था जिसमें उन्होंने एक हिंदू की मौत की प्रतिक्रिया में 10 मुसलमानों की मौत की बात कही थी. इस 'भड़काऊ' भाषण को जायज ठहराते हुए उन्होंने कहा, 'मैंने जो कुछ कहा वह शर्त पर आधारित था. अगर सामने वाला एक दानव है, मानव नहीं, तो उसका जवाब देना जरूरी हो जाता है. बतौर संन्यासी अगर मेरे एक हाथ में माला और दूसरे में भाला है तो मैं बुरी शक्तियों को दंड दे सकता हूं.'

बयान पर बोलने से बच रही बीजेपी
 उन्होंने कहा, 'अगर तुम (अल्पसंख्यक) हमारा एक मारोगे तो तुम भी सुरक्षित रहने की उम्मीद मत करो. अगर वो शांति से नहीं रहेंगे तो हम उन्हें उनकी भाषा में सिखाएंगे कि शांति से कैसे रहा जाता है.'

पार्टी योगी आदित्यनाथ के इस बयान पर कुछ भी कहने से बच रही है. अखबार के मुताबिक, एक बीजेपी नेता ने कहा कि आदित्यनाथ की टिप्पणी पार्टी नेताओं के लिए 'शर्मसार' करने वाली है. उन्होंने कहा, 'किसी को तो रेखा खींचनी पड़ेगी.'

हाल ही में भड़काऊ भाषण का वीडियो सामने आने के बाद आदित्यनाथ आलोचकों के निशाने पर हैं. इस वीडियो में वह भड़काऊ बयान देते नजर आ रहे हैं कि अगर वे हमारी एक बालिका को मुस्लिम बनाएंगे तो हम उनकी 100 को बनाएंगे. उनका पूरा बयान था, 'हम लोगों ने इस परंपरा को स्वीकार किया है. किसी भी समय में कोई भी धर्मपरिवर्तन करेगा. अगर वह हिंदू बनेगा हम उसे स्वीकार करेंगे. उसकी शुद्धि करवाएंगे. उसको अपनाएंगे. एक नई जाति का निर्माण कर देंगे. हम लोगों ने तय कर रखा है कि अगर वो एक हिंदू बालिका को ले जाएंगे तो हम कम से कम 100 मुस्लिम बालिकाओं को हिंदू बना देंगे.'

'लव जिहाद से मुस्लिम देश बनाने की साजिश'
लव जिहाद पर बीते दिनों खूब हंगामा करने वाले आदित्यनाथ ने कहा कि इस शब्द का इस्तेमाल केरल के कम्युनिस्ट मुख्यमंत्री वीएस अच्युतानंदन ने किया था. योगी ने कहा, 'सब जानते हैं कि लव जिहाद उस रणनीति का हिस्सा है जो भारत को मुस्लिम देश बनान चाहता है.'

आदित्यनाथ से जब पूछा गया कि क्या मुस्लिम धर्मगुरु दीवाली या होली मना सकते हैं, तो उन्होंने कहा, 'अगर यहां रहना चाहते हैं तो आपको भारतीय संस्कृति और सभ्यता का सम्मान करना पड़ेगा. ऐसा नहीं हो सकता कि आपका शरीर यहां रहे और दिमाग पाकिस्तान में.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें