scorecardresearch
 

कारोबार का माहौल सुधारने में भारत ने पूरी दुनिया को छोड़ा पीछे!

ईज ऑफ डुइंग बिजनेस यूनिट के कार्यकारी मैनेजर सेंटियागो क्रोकी ने बताया कि इस वार्षिक रिपोर्ट के 15 साल के इतिहास में सिर्फ पांच देशों ने एक साल के अंदर रैंकिंग में इतना जबरदस्त सुधार किया है, लेकिन इन देशों की अर्थव्यवस्था भारत के जितनी बड़ी नहीं है.

X
वित्त मंत्री अरुण जेटली वित्त मंत्री अरुण जेटली

पूरी दुनिया में कारोबार के माहौल को लेकर विश्व बैंक की सालाना रिपोर्ट भारत के लिए बहुत ही अच्छी खबर लेकर आई है. 190 देशों की लिस्ट में पिछले साल भारत का स्थान 130वां था लेकिन पूरी दुनिया को चौंकाते हुए इस साल की रिपोर्ट में भारत ने पूरे 30 अंकों की छलांग लगाई और 100वां स्थान हासिल किया. इस उपलब्धि को इस रूप में समझा जा सकता है कि पूरी दुनिया में कारोबार का माहौल सुधारने में भारत का स्थान नंबर एक रहा है क्योंकि किसी भी देश की रैंकिंग में एक साथ पूरे 30 अंकों का उछाल नहीं आया.

विश्व बैंक के ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में दुनिया में आर्थिक माहौल में सुधार करने वाले शीर्ष 10 देशों में भारत को जगह मिली है. इस रिपोर्ट में कहा गया कि बुनियादी ढांचे में सुधार करने वाला भारत दुनिया का पहला देश है.

2011 से 2017 तक भारत की रैंकिंग:

2011-132

2012-132

2013-134

2014-142

2015-130

2016-130

2017-100

मोदी सरकार में सुधरी स्थिति

इन आंकड़ों का विश्लेषण किया जाए तो केंद्र में एनडीए की सरकार आने के बाद से भारत की रैंकिंग में सुधार आया है. 2014 में जब नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद संभाला उस साल भारत की रैंकिंग 142 थी, लेकिन इसके बाद हर साल भारत में कारोबार का माहौल बेहतर हुआ और उसकी रैंकिंग में उछाल देखने को मिला.

वर्ल्ड बैंक ने भी माना लोहा

वर्ल्ड बैंक में ईज ऑफ डुइंग बिजनेस यूनिट के कार्यकारी मैनेजर सेंटियागो क्रोकी ने बताया कि इस वार्षिक रिपोर्ट के 15 साल के इतिहास में सिर्फ पांच देशों ने एक साल के अंदर रैंकिंग में इतना जबरदस्त सुधार किया है, लेकिन इन देशों की अर्थव्यवस्था भारत के जितनी बड़ी नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें