scorecardresearch
 

पश्चिम बंगाल में शिक्षक आंदोलन को लेकर लोकसभा में भिड़ी बीजेपी-टीएमसी

शुक्रवार को लोकसभा में पश्चिम बंगाल के शिक्षकों के मुद्दे को लेकर भारी हंगामा हुआ. बीजेपी और टीएमसी के नेता काफी देर तक एकदूसरे के खिलाफ नारेबाजी करते रहे. सत्ता पक्ष के सदस्यों ने सदन में बहुत ही मुखरता के साथ पश्चिम बंगाल के मुद्दे को उठाया और राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाए.

लोकसभा में हुआ हंगामा (फोटो साभार: लोकसभा टीवी) लोकसभा में हुआ हंगामा (फोटो साभार: लोकसभा टीवी)

  • लोकसभा में पश्चिम बंगाल के शिक्षक आंदोलन का मुद्दा उठा
  • शिक्षक आंदोलन को लेकर आपस में भिड़ी बीजेपी और टीएमसी
  • बीजेपी सांसद लॉकेट चटर्जी ने ममता सरकार पर लगाए आरोप

शुक्रवार को लोकसभा में पश्चिम बंगाल के शिक्षकों के मुद्दे को लेकर भारी हंगामा हुआ. बीजेपी और टीएमसी के नेता काफी देर तक एकदूसरे के खिलाफ नारेबाजी करते रहे. सत्ता पक्ष के सदस्यों ने सदन में बहुत ही मुखरता के साथ पश्चिम बंगाल के मुद्दे को उठाया और राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाए. यही वजह थी कि सदन में सत्ता और विपक्ष के नेता आपस में भिड़ गए.

पश्चिम बंगाल के हुगली से बीजेपी सांसद लॉकेट चटर्जी ने पश्चिम बंगाल सरकार पर गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि वहां की सरकार शिक्षा बर्बाद कर देगी. बंगाल में शिक्षा का कुछ भी नहीं है. मुख्यमंत्री कुछ भी नहीं कर रहा है. पुलिस लाठी चार्ज कर रही है. बंगाल में शिक्षा का कोई सम्मान नहीं है.

बीजेपी सांसद बोलीं- पश्चिम बंगाल में लॉ-ऑर्डर नहीं

बंगाल में शिक्षकों के आंदोलन की बात सदन के पटल पर रखते हुए लॉकेट चटर्जी ने आगे कहा कि महिला की मौत हो गई. बच्चे भी भूख हड़ताल में शामिल हैं. कई लोगों को चोट लगी हुई है. पश्चिम बंगाल में लॉ-ऑर्डर नहीं है. शिक्षक की भूख हड़ताल हो रही है. आप लोगों को देखना चाहिए.

टीएमसी सांसदों पर भी बोला हमला

सदन में मौजूद टीएमसी सांसदों पर हमला बोलते हुए सांसद चटर्जी ने कहा कि खुद का स्टेट संभाल नहीं पा रहे और दूसरे स्टेट की बात कर रहे हैं. यह मामला छोटे-छोटे बच्चों के भविष्य से जुड़ा है. पश्चिम बंगाल में महिला मुख्यमंत्री होने के बाद भी महिला की मौत हो जाती है. पश्चिम बंगाल की स्थिति बहुत खतरनाक है. जब बाहर लोग मर जाते हैं तो ये लोग आंदोलन करते हैं लेकिन बंगाल के लिए कुछ नहीं बोलते हैं. जो मर गया उसको इंसाफ चाहिए.

लोकसभा अध्यक्ष ने सबको कराया शांत

इस दौरान लगातार सत्ता और विपक्ष के लोग हंगामा करते रहे. बीजेपी के सांसद और टीएमसी के सांसद एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे थे. अंत में लोकसभा अध्यक्ष ने सदन में शांति बहाल करने की कोशिश की और सबसे अपनी-अपनी सीट पर लौटन का अनुरोध किया. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि सभी माननीय सदस्य बैठ जाएं. सभी लोग अपनी सीट पर जाएं. सबको सदन में बोलने का मौका मिलेगा.

टीएमसी सांसद बोलीं- सब झूठ है

इसके बाद लोकसभा में नियम 193 के अधीन वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन पर चर्चा शुरू हुई. पश्चिम बंगाल के जयनगर से टीएमसी सांसद प्रतिमा मंडल ने वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन पर चर्चा शुरू करनी थी इसी वजह से लोकसभा अध्यक्ष ने उन्हें आमंत्रित किया. लेकिन प्रतिमा मंडल ने अपनी बात शुरू करने से पहले कहा कि बंगाल से आए सदस्यों ने जो बात यहां कही, सब झूठ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें