scorecardresearch
 

मंदिर बन सकता है तो मस्जिद क्यों नहीं: ओबामा

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा 9/11 के हमले की नौवीं बरसी की पूर्वसंध्या पर ग्राउंड जीरो के पास मस्जिद बनाने का मजबूती से बचाव करते हुए कहा कि यदि हिंदू मंदिर बनाया जा सकता है तो मस्जिद क्यों नहीं.

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा 9/11 के हमले की नौवीं बरसी की पूर्वसंध्या पर ग्राउंड जीरो के पास मस्जिद बनाने का मजबूती से बचाव करते हुए कहा कि यदि हिंदू मंदिर बनाया जा सकता है तो मस्जिद क्यों नहीं.

न्यूयार्क में ग्राउंड जीरो के पास मस्जिद के निर्माण को लेकर विवाद के बारे में पूछे गये सवाल पर ओबामा ने कहा, ‘न्यूयार्क में मस्जिद को लेकर यहां मेरी स्थिति बहुत स्पष्ट रही है.’ उन्होंने कहा कि अमेरिका इस बात में विश्वास रखता है कि उसके नागरिकों को अपना धर्म मानने की आजादी हो.

ओबामा ने कहा, ‘यदि आप एक जगह चर्च बनाते हैं तो आप किसी जगह यहूदी धर्मस्थल बना सकते हैं. यदि आप किसी जगह हिंदू मंदिर बना सकते हैं तो आपके पास वहां एक मस्जिद बनाने की क्षमता होनी चाहिए.’ उन्होंने इस मौके पर 9.11 में मारे गये लोगों और उनके परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें