scorecardresearch
 

ट्विटर पर सवाल, 'नैचुरली करप्ट पार्टी के समर्थन से बनाई सरकार, Is it Ok मोदी जी?'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बुधवार को ऐसी ही स्थिति का शिकार होते-होते बचे. प्रधानमंत्री म्यांमार में आसियान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे, लेकिन इस दौरान एक तकनीकी समस्या के ग्रहण से उन्हें अपना भाषण कुछ देर के लिए रोकना पड़ा. इस दौरान प्रधानमंत्री ने वहां मौजूद अधिकारियों से अंग्रेजी में जो वाक्य कहे, उसके सोशल मीडिया पर भी चर्चे होने लगी.

X
narendra Modi in Myanmar narendra Modi in Myanmar

आपको याद होगा दो साल पहले का वह वक्त, जब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का 'ठीक है' सोशल मीडिया पर वायरल हो गया थे. वह दिल्ली गैंगरेप के बाद उबली जनता से धैर्य रखने की अपील कर रहे थे, लेकिन कैमरापर्सन से कहा गया उनका 'ठीक है' गलती से ऑन-एयर हो गया. इसके बाद मनमोहन पर कसे जा रहे तमाम तंजो-लतीफ में एक इजाफा और हो गया. 'ठीक है' के रूप में.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बुधवार को ऐसी ही स्थिति का शिकार होते-होते बचे . प्रधानमंत्री म्यांमार में आसियान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे, लेकिन इस दौरान एक तकनीकी समस्या के ग्रहण से उन्हें अपना भाषण कुछ देर के लिए रोकना पड़ा.  इस दौरान प्रधानमंत्री ने वहां मौजूद अधिकारियों से अंग्रेजी में जो वाक्य कहे, उसके सोशल मीडिया पर भी चर्चे होने लगी. (देखें वीडियो) हालांकि ट्विटर समाज के पास आज ट्रेंड कराने के लिए दूसरी बेहतर चीजें थी, इसलिए यह 'ठीक है' के मुकाबले ज्यादा लोकप्रिय नहीं हो पाया.

दरअसल मोदी ने भाषण शुरू किया ही था कि उन्हें लगा कि हॉल में कुछ हलचल हो रही है. वह रुक गए और अंग्रेजी में बोले, 'आई थिंक देयर इज सम टेक्निकल प्रॉब्लम?' कुछ सेकेंड चुप रहने के बाद उन्होंने विशुद्ध भारतीय लहजे में अधिकारियों से दो बार पूछा, 'इज इट ओके.' अब इस 'इज इट ओके' को मजे लेने के लिए आतुर ट्विटर समाज ने तुरंत लपक लिया. धड़ाधड़ ट्वीट होने लगे. एक ट्विटराइट ने मोदी को टैग करते हुए लिखा, 'महाराष्ट्र में BJP ने नैचुरली करप्ट पार्टी के समर्थन से सरकार बना ली है. इज इट ओके मोदी जी?' कुछ ने लिखा कि प्रधानमंत्री इस तकनीकी समस्या से नाराज हो गए थे और इसका गुस्सा उनके हाव-भाव में नजर आ रहा था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें