scorecardresearch
 

पश्चिम बंगाल में भाजपा के बंद में हिंसा, 1600 लोग गिरफ्तार

उत्तरी दिनाजपुर जिले के इस्लामपुर क्षेत्र में उर्दू शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर 20 सितम्बर को हुए संघर्ष में दो छात्रों की हत्या के विरोध में भाजपा ने बंद का आह्वान किया था.

बंगाल बंद का दृश्य (फोटो- ट्विटर) बंगाल बंद का दृश्य (फोटो- ट्विटर)

उत्तरी दिनाजपुर जिले में दो छात्रों की मौत के विरोध में बुधवार को भाजपा के 12 घंटे के पश्चिम बंगाल बंद के दौरान बसों में आगजनी और झड़प जैसी हिंसा की घटनाएं हुई. इस दौरान 1600 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया.

बंद के दौरान कई जगहों पर भाजपा कार्यकर्ताओं की तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से भिड़ंत हो गई. भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई ने बंद को 'पूरी तरह सफल' बताया और तय समय से दो घंटे पहले बंद खत्म कर दिया.

एडीजीपी (कानून-व्यवस्था) अनुज शर्मा ने कहा कि इस दौरान 1600 लोगों को गिरफ्तार किया गया. भाजपा समर्थकों ने मध्य कोलकाता में कैनिंग स्ट्रीट पर एक बस में आग लगा दी. इलाके के श्यामबाजार और सियालदह इलाके में पथराव की घटनाएं हुईं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक बुधवार को बंद के दौरान इस्लामपुर में दो बसों में आग लगा दी गई और वाहनों पर पथराव किया गया. पुलिस ने बताया कि पश्चिम मेदनीपुर, पश्चिम बर्द्धमान, दक्षिण दिनाजपुर और उत्तरी दिनाजपुर जिले में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के समर्थकों के बीच झड़पें हुई.

हालांकि, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बंद को पूरी तरह नाकाम बताते हुए कहा कि बंगाल के लोगों ने बंद और काम रोकने की संस्कृति को खारिज कर दिया है. शहर और पास के जिले में आम-जनजीवन पर कोई खास असर नहीं पड़ा. लेकिन उत्तरी दिनाजपुर में बंद का असर देखने को मिला.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें