scorecardresearch
 

पश्चिम बंगाल: पुलिस बोली- योजना बनाकर बैरकपुर में की गई हिंसा

पश्चिम बंगाल के एडीजी (कानून-ऑर्डर) ज्ञानवंत सिंह ने खुलासा किया है कि बैरकपुर में हुई हिंसा अचानक से नहीं हुई है बल्कि योजनाबद्ध तरीके से इसे अंजाम दिया गया है.

एडीजी (कानून-ऑर्डर) ज्ञानवंत सिंह (ANI) एडीजी (कानून-ऑर्डर) ज्ञानवंत सिंह (ANI)

पश्चिम बंगाल के एडीजी (कानून-ऑर्डर) ज्ञानवंत सिंह ने खुलासा किया है कि बैरकपुर में हुई हिंसा अचानक से नहीं हुई है बल्कि योजनाबद्ध तरीके से इसे अंजाम दिया गया है. जिस तरह से पुलिस और कमिश्नर पर हिंसा की गई, साफ जाहिर होता है कि इसे साजिशन रचा गया है. एडीजी ने कहा पुलिस कमिश्नर खुद फोर्स को लीड कर रहे थे वहीं भारतीय जनता पार्टी के सांसद अर्जुन सिंह भीड़ को लीड कर रहे थे.

बैरकपुर में सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई. दरअसल, रविवार को सांसद अर्जुन सिंह पर हमले के विरोध में बीजेपी ने सोमवार को 12 घंटे का बंद बुलाया था. बीजेपी के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, तभी उनकी टीएमसी कार्यकर्ताओं से झड़प हो गई है. इस झड़प में 25 बीजेपी कार्यकर्ताओं के घायल होने की बात सामाने आई थी.

वहीं, राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जिस तरह से पिछले तीन दिनों में बीजेपी नेताओं पर हमले की घटना हुई, वह विपक्ष को कुचलने की साजिश है. दीदी ये कौन सा लोकतंत्र है आपके राज में. कैलाश विजयवर्गीय ने आरोप लगाया था कि अब पुलिस अधिकारी भी बीजेपी नेताओं पर खुलेआम डंडे बरसाने लगे हैं.

बता दें कि काकीनाड़ा इलाके में रविवार को कथिर तौर पर पुलिस लाठीचार्ज में बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह घायल हो गए थे. अर्जुन सिंह को भाटपारा के सरकारी अस्पताल में दाखिल कराया गया था. वहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें कोलकाता रेफर कर दिया गया. उनके सिर में कई टांके लगे हैं. अर्जुन सिंह पर पुलिस लाठीचार्ज के खिलाफ बीजेपी ने बैरकपुर-बारासात इलाके में सोमवार को 12 घंटे की बंद बुलाई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें