scorecardresearch
 

कॉमिक्स में दिखेगी भारतीय सेना के जवानों की वीरगाथा

बच्चों और किशोरों तक पहुंच बढ़ाने के लक्ष्य के साथ भारतीय सेना देश के चो‍टी के कॉमिक्स बुक पब्लिशर्स के साथ एक ‘वॉरियर्स सीरीज’ के सिलसिले में बातचीत कर रही है. इस सीरीज में सैनिकों को देश के लिए लड़ाई लड़ते हुए, असाधारण कार्यों को अंजाम देते हुए दिखाया जाएगा.

बच्चों और किशोरों तक पहुंच बढ़ाने के लक्ष्य के साथ भारतीय सेना देश के चो‍टी के कॉमिक्स बुक पब्लिशर्स के साथ एक ‘वॉरियर्स सीरीज’ के सिलसिले में बातचीत कर रही है. इस सीरीज में सैनिकों को देश के लिए लड़ाई लड़ते हुए, असाधारण कार्यों को अंजाम देते हुए दिखाया जाएगा.

हालांकि इंडियन वॉर कॉमिक्स के पास पहले ही सेना के जांबाज सैनिकों से जुड़ी एक सीरीज है. सेना के पास कॉमिक बुक्स के विभिन्न प्रकाशकों से अनुरोध आ रहे हैं. यह 9वीं और 12वीं कक्षाओं में थलसेना, नौसेना और वायुसेना के जाबांज नायकों की अनकही कहानियों के लिए अतिरिक्त पठन सामग्री उपलब्ध करवाने की सीबीएसई की योजना से अलग है.

सैन्य सूत्रों ने कहा कि सेना एक कॉमिक सीरीज के लिए ‘टिंकल’ और ‘अमर चित्र कथा’ के प्रकाशकों के साथ बातचीत कर रही है. एक सूत्र ने कहा, ‘सेना इसे प्रकाशित नहीं करवा रही है. उसके पास अनुरोध आए हैं और सेना कहानियां एवं शोध सामग्री उपलब्ध करवा रही है.’ ‘ऑन कॉमिक्स’ वीरता पुरस्कार के विजेताओं पर पूरी एक सीरीज लेकर आई है.

ऑन कॉमिक के प्रकाशक रिषी कुमार ने बताया, ‘ये किताबें अधिकतर बुकस्टोर और ऑनलाइन स्टोर फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध हैं.’ युवाओं को आकर्षित करने के लिए ऐसी तरकीबें सिर्फ थलसेना ही नहीं आजमा रही बल्कि वायुसेना ने पिछले साल युवाओं को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए एक मोबाइल गेम शुरू किया था. इसके बाद में इसने इस चर्चित खेल का दूसरा संस्करण भी शुरू किया.

सेना को उम्मीद है कि बड़े प्रकाशकों को शामिल करने से कॉमिक बुक्स का प्रचार बेहतर होगा और इससे ज्यादा लोगों तक पहुंचने में मदद मिलेगी.

- इनपुट भाषा से

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें