scorecardresearch
 

रामदेव बेच रहे बेटा पैदा करने की दवा, राज्यसभा में हंगामा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने हर भाषण में 'बेटी बचाओ' का नारा लगा रहे हैं, लेकिन यह दुखद और शर्मनाक है कि उनके करीबी माने जाने वाले योगगुरु रामदेव की कंपनी दिव्य फार्मेसी बेटा पैदा करने की दवा बेच रही है.

राज्यसभा में पुत्रजीवक बीज का पैकेट दिखाते केसी त्यागी राज्यसभा में पुत्रजीवक बीज का पैकेट दिखाते केसी त्यागी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने हर भाषण में 'बेटी बचाओ' का नारा लगा रहे हैं, लेकिन यह दुखद और शर्मनाक है कि उनके करीबी माने जाने वाले योगगुरु रामदेव की कंपनी दिव्य फार्मेसी बेटा पैदा करने की दवा बेच रही है. गुरुवार को जेडीयू नेता केसी त्यागी ने राज्यसभा में इस बाबत मुद्दा उठाया, जिसके बाद सदन में जमकर हंगामा हुआ. इस बीच बाबा रामदेव ने कहा है कि यह उनके पतंजलि योगपीठ को बदनाम करने की साजिश है.

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही त्यागी ने 'पुत्रजीवक बीज' का पैकेट दिखाते हुए इसका विरोध किया, जिसके बाद जया बच्चन, जावेद अख्तर समेत कई सांसदों ने सुर में सुर मिला लिए. दिलचस्प यह है कि हरियाणा सरकार ने हाल ही रामदेव को प्रदेश का ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया है और प्रधानमंत्री ने अपने बेटी बचाओ अभि‍यान की शुरुआत भी हरियाणा से ही की थी.

हालांकि इस पूरे मसले पर बीजेपी कुछ भी बोलने से बच रही है. कैबिनेट मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सरकार अभी इस मामले में और जानकारी इक्ट्ठा करना चाहेगी, वहीं स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि यह गंभीर मसला है और सरकार इस ओर उचित कार्रवाई करेगी.

2007 में विवाद के बाद बदल दिया नाम
दिव्य फार्मेसी की दवा को लेकर विवाद नया नहीं है. इससे पहले भी पतंजलि योगपीठ में 'पुत्रवती' नामक दवा बेचने को लेकर काफी विवाद हो चुका है. 2007 में उत्तराखंड सरकार के आदेश पर मामले की जांच भी की गई थी, जिसके बाद इस दवा को बेचना बंद कर दिया गया था.

हालांकि पतंजलि योगपीठ की वेबसाइट पर दवाओं की लिस्ट में पुत्र होने की दवा का नाम साफ तौर पर दर्ज किया गया है. विवाद के बाद दिव्य फार्मेसी की इस दवा का नाम बदलकर 'पुत्रवती' की जगह 'पुत्रजीवक बीज' कर दिया गया.

हालांकि इस दवा पर कहीं भी ऐसा कोई दावा नहीं किया गया है कि यह पुत्र प्राप्ति के लिए दी जाने वाली दवा है. साइट पर दी गई जानकारी में सिर्फ इतना लिखा है- प्रसव संबंधी समस्याओं और इन्फर्टिलिटी के लिए. लेकिन वेबसाइट पर बेटे की चाहत रखने वालों के ऑनलाइन सवाल के जवाब में सलाह के तौर पर इस दवा का सुझाव दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें