scorecardresearch
 

आजम खान पर रामपुर में पुल गिराने का आरोप, राज्यपाल ने डिप्टी सीएम को पत्र लिखा

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को लिखे पत्र में राज्यपाल राम नाईक ने कहा है कि कांग्रेस नेता फैसल खान लाला ने उन्हें ज्ञापन सौंपकर कहा था कि अंग्रेजों के जमाने का लालपुर का पुल सियासत की भेंट चढ़ा गया. फैसल खान लाला ने राज्यपाल को कहा कि तहसील टांडा के लाखों लोग पुराने पुल से होकर शहर आते थे. लेकिन पुल तोड़े जाने की वजह से शहर से उनका संपर्क टूट गया है.

समाजवादी पार्टी सांसद आजम खान (फाइल फोटो) समाजवादी पार्टी सांसद आजम खान (फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान के खिलाफ उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने तीसरा पत्र लिखा है. इस बार उन्होंने यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को पत्र लिखा है. इस पत्र में राज्यपाल ने रामपुर स्थित लालपुर का नया पुल बनवाने और गैरकानूनी तरीके से पुराना पुल गिराने वाले दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए उपमुख्यमंत्री को पत्र लिखा है.

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान की मुश्किलें कम नहीं हो रही है. उनके खिलाफ आरोपों की फेहरिस्त रोजाना बढ़ती ही जा रही है. ताजा मामले में रामपुर में एक पुल गिरवाने के आरोप में राज्यपाल राम नाईक ने उनके खिलाफ जरूरी कार्रवाई के लिए कहा है. राज्यपाल राम नाईक ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को इस मामले में पत्र लिखा है. आजम खान के खिलाफ गवर्नर राम नाईक ने चौथे मामले में पत्र लिखकर कानूनी कार्रवाई के लिए कहा है.

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को लिखे पत्र में राज्यपाल राम नाईक ने कहा है कि कांग्रेस नेता फैसल खान लाला ने उन्हें ज्ञापन सौंपकर कहा था कि अंग्रेजों के जमाने का लालपुर का पुल सियासत की भेंट चढ़ा गया. फैसल खान लाला ने राज्यपाल को कहा कि तहसील टांडा के लाखों लोग पुराने पुल से होकर शहर आते थे. लेकिन पुल तोड़े जाने की वजह से शहर से उनका संपर्क टूट गया है.

leter_072719023710.jpgDy CM को राज्यपाल राम नाईक द्वारा भेजा गया पत्र.

आरोप है कि आजम खान ने अपने राजनीतिक फायदे के लिए बिना नया पुल बनवाए पुराने लालपुर के पुल को इसलिए तुड़वा दिया क्योंकि वह अपने बेटे अब्दुल्ला आजम को पुल के उस पार स्वार-टांडा विधानसभा से चुनाव लड़ाना चाहते थे. आरोप के मुताबिक साल 2017 में विधानसभा चुनाव से ठीक 6 महीने पहले आजम खान के इशारे पर पुल को गिरा दिया गया. रिपोर्ट के मुताबिक आजम खान ने जनसभा में टांडा के लाखों वोटरों को ब्लैकमेल करते हुए कहा कि यदि इनका बेटा अब्दुल्ला चुनाव नहीं जीता तो ये पुल नही बन सकेगा.

फैसल खान का आरोप है कि आजम खान ने न सिर्फ पुल ध्वस्त करवाया बल्कि उसका करोड़ो का मलबा, लोहे की छड़ें आदि सामान जौहर ट्रस्ट को मुफ्त में दे दिया. पुल टूटने के कारण तहसील टांडा के लगभग 5 लाख लोगों का संपर्क जिला मुख्यालय से आज तक कटा हुआ है. फैसल लाला ने मांग की है कि इस मामले में दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए, साथ ही लालपुर के नये पुल को जल्द बनवाया जाए.

कांग्रेस नेता फैसल खान लाला ने 8 जुलाई को राजभवन पहुंचकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा था, और मामले में कार्रवाई की मांग की है. राज्यपाल राम नाईक ने संज्ञान लेते हुए सूबे के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को पत्र लिखकर कार्यवाही के निर्देश दिए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें