scorecardresearch
 

रविशंकर प्रसाद का हमला, बोले- नीरव मोदी को बचाने में जुटी है कांग्रेस

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस नेता व पूर्व जज अभय थिप्से ने नीरव के पक्ष में गवाही दी थी. उनके सेवानिवृत्ति होने से दस महीने पहले सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने उन्हें प्रशासनिक आधार पर बॉम्बे हाई कोर्ट से इलाहाबाद हाई कोर्ट स्थानांतरित कर दिया था.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद

  • पूर्व जज ने डिफेंस विटनेस के तौर पर स्टैंड लिया
  • जज की कांग्रेस में हुई थी हाई प्रोफाइल ज्वाइनिंग

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को बचाने में लगी है. उन्होंने कहा कि मुंबई हाई कोर्ट के एक रिटायर्ड जज हैं, जिन्होंने नीरव मोदी के डिफेंस विटनेस के रूप में ये स्टैंड लिया है कि नीरव मोदी के खिलाफ कोई केस नहीं है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस नेता व पूर्व जज अभय थिप्से ने नीरव के पक्ष में गवाही दी थी. उनके सेवानिवृत्ति होने से दस महीने पहले सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने उन्हें प्रशासनिक आधार पर बॉम्बे हाई कोर्ट से इलाहाबाद हाई कोर्ट स्थानांतरित कर दिया था.

उन्होंने कहा कि 13 जून 2018 को वह कांग्रेस पार्टी (सेवानिवृत्ति के बाद) में शामिल हो गए. राहुल गांधी, अशोक गहलोत, अशोक चव्हाण की मौजूदगी में ये एक हाई प्रोफाइल ज्वाइनिंग हुई थी. हमने पहले भी कहा था कि कांग्रेस पार्टी हमेशा नीरव मोदी मामले में तारणहार की भूमिका निभाती है.

नीरव मोदी का प्रत्यर्पण से बचने का पैंतरा, लंदन कोर्ट में वकील ने कहा- दिमागी हालत ठीक नहीं

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नीरव मोदी से संबंधित मामले कांग्रेस के शासन के हैं. ये अधिकांश सब यूपीए-1 और यूपीए-2 में हुआ था. राहुल गांधी ने 13 सितंबर 2013 को नीरव मोदी के एक कार्यक्रम में भी शिरकत की थी.

नीरव मोदी का नया पैंतरा

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की वकील ने प्रत्यर्पण ट्रायल के दूसरे दिन लंदन की कोर्ट से मंगलवार को कहा था कि उनके मुवक्किल (नीरव मोदी) को मानसिक स्वास्थ्य की समस्या है. वकील क्लेयर मोंटगोमरी ने ये भी कहा कि नीरव मोदी को अगर प्रत्यर्पित किया जाता है और मुंबई की आर्थर रोड जेल में रखा जाता है तो यह उनके मुवक्किल के मानवाधिकारों का उल्लंघन होगा. वकील ने नीरव मोदी के खिलाफ सभी आरोपों को निराधार बताया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×