scorecardresearch
 

टेक्‍सास विमान हादसे ने अमेरिका को दहलाया

विमान हादसे ने अमेरिका को एक बार फिर दहला दिया है. टेक्सास की राजधानी ऑस्टिन में एक विमान सात मंजिला इमारत से जा टकराया. इसके बाद इमारत धू-धू कर जलने लगी. माना जा रहा है कि पायलट ने ऐसा जानबूझकर किया और हादसे में मारा गया. हादसे में 2 लोग घायल हैं और एक शख्स लापता बताया जा रहा है.

विमान हादसे ने अमेरिका को एक बार फिर दहला दिया है. टेक्सास की राजधानी ऑस्टिन में एक विमान सात मंजिला इमारत से जा टकराया. इसके बाद इमारत धू-धू कर जलने लगी. माना जा रहा है कि पायलट ने ऐसा जानबूझकर किया और हादसे में मारा गया. हादसे में 2 लोग घायल हैं और एक शख्स लापता बताया जा रहा है.

अमेरिका में बृहस्पतिवार को सुबह का वक्त था, जब एक जोरदार धमाके के बाद एकेलॉन बिल्डिंग में लगी आग से टेक्सास की राजधानी थर्रा उठी. ऑस्टिन शहर में सात मंजिला इमारत से एक छोटा विमान जा टकराया और देखते ही देखते पूरी इमारत से आग की ऊंची लपटें उठने लगीं. आसमान काले धुएं से भर गया.
ऑस्टिन फायर डिपार्टमेंट के मुताबिक 4 सीट वाले छोटे विमान पाइपर ने जॉर्जटाउन म्यूनिसिपल एयरपोर्ट से सुबह 9 बजकर 40 मिनट पर उड़ान भरी थी. विमान काफी नीचे उड़ रहा था और कुछ ही मिनटों के अंदर एकेलॉन बिल्डिंग से जा टकराया. टक्कर के बाद विमान के परखच्चे उड़ गए, लेकिन सात मंजिला इमारत भी धू-धू कर जलने लगी.
 
मुसीबत में थे तीसरी और चौथी मंजिल पर फंसे लोग, जिन्हें बचाने के लिए ऑस्टिन फायर ब्रिगेड ने तत्काल पूरे इलाके की बिजली काट दी, ताकि आग ना फैले. फिर एक तरफ से फायर ब्रिगेड की गाड़ियों से पानी की बौछार की गई, तो दूसरी ओर से इमारत में फंसे सभी लोगों को एक-एक कर बाहर निकाला गया. इमारत खाली होने के बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली, क्योंकि इतनी बड़ी घटना में सिर्फ दो लोगों के घायल होने की खबर मिली.

आस्टिन की एकेलॉन बिल्डिंग से टकराने वाला विमान चार सीटों वाला छोटा विमान था. पायलट गुस्से में पागल हो गया था और उसने ऐसा करके आईआरएस विभाग पर अपनी खुन्‍नस निकाली. लोग 9/11 जैसी घटना याद करके सिहर उठे.

टेक्सास की राजधानी ऑस्टिन में हुए विमान दुर्घटना ने अमेरिका को नौ साल पहले हुए 11 सितंबर की घटना की याद दिला दी, जब आतंकवादियों ने ट्विन टावर से विमान टकरा दिया था. ऑस्टिन में विमान की हूबहू वैसी ही टक्कर हुई. फर्क सिर्फ इतना कि इस बार विमान छोटा था.

जिस इमारत में पायलट ने विमान टकरा दिया, उसमें इंटरनल रेवेन्यू सर्विस (आईआरएस) का दफ्तर है. इसी को लक्ष्‍य करके विमान टकराया गया. घटना के वक्‍त बिल्डिंग में 190 लोग मौजूद थे. इससे सटी हुई इमारत में फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) का दफ्तर है. पहले यह शक था कि कहीं आतंकियों ने एफबीआई पर हमला तो नहीं किया, जिसके निशाने पर गलती से आईआरएस का दफ्तर आ गया. पायलट ने जिस तरह से इमारत में प्लेन को टकराया था, उसकी शुरुआती जांच के बाद एजेंसियों ने दावा किया कि ये आतंकी हमला नहीं था.

काउंटर टेररिज्म एडवाइजर जॉन ब्रेनन ने राष्ट्रपति बराक ओबामा को जांच की जानकारी दी.  दोपहर 12.35 पर हुई मीटिंग में अफसरों ने बताया कि ये घटना एक वारदात है, ना कि आतंकी हमला. इस वारदात को एक सिरफिरे पायलट ने अंजाम दिया, जो आईआरएस के अफसरों से नाराज था. पायलट ने अमेरिकी राजस्व विभाग के दफ्तर को निशाना बनाया और विमान टकराने से पहले उसकी वेबसाइट पर बाकायदा मैसेज भेजा कि महकमे से वो कितना परेशान हो चुका है. साफ है कि वो बदला लेने के लिए बेताब था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें