scorecardresearch
 

बेटे को दिखानी थी संसद, तो दिल्ली के 'नो फ्लाइंग जोन' में ड्रोन ले आए रूसी बाबू!

देश की राजधानी के सबसे सुरक्षित कहे जाने वाले इलाके नॉर्थ और साउथ ब्लॉक में शनिवार को एक संदिग्ध ड्रोन उड़ता देखा गया. ड्रोन काफी देर तक विजय चौक के ऊपर उड़ता रहा.

X
विजय चौक पर उड़ता ड्रोन
विजय चौक पर उड़ता ड्रोन

देश की राजधानी के सबसे सुरक्षित कहे जाने वाले इलाके नॉर्थ और साउथ ब्लॉक में शनिवार को एक संदिग्ध ड्रोन उड़ता देखा गया. ड्रोन काफी देर तक विजय चौक के ऊपर उड़ता रहा.

ध्यान रहे, संसद और राष्ट्रपति भवन के आसपास का यह पूरा इलाका नो फ्लाइंग जोन है. घटना के बाद संसद के आसपास की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

बाद में पता चली हकीकत
सूत्रों ने बताया कि यह ड्रोन रूसी दूतावास के एक अधिकारी का था. हालांकि रूसी दूतावास के सूत्रों का कहना है कि ड्रोन उड़ाने वाला शख्स कोई राजनयिक नहीं था. वह टेक्निकल डिवीजन का अधिकारी था, जो अपने बेटे को एक अलग एंगल से भारतीय संसद दिखाने आया था.

रूसी दूतावास से सूत्रों का कहना है कि यह घटना सिर्फ एक गलतफहमी है. दूतावास के गैर राजनयिक अधिकारी ने अपने बच्चे के लिए दिल्ली की एक दुकान से यह खिलौना खरीदा था. इस मामले में दिल्ली पुलिस को स्पष्टीकरण दे दिया गया है.

पुलिस ने जब्त की ड्रोन की चिप
मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन के बाद ड्रोन की चिप जब्त कर ली है. इससे पहले जॉइंट पुलिस कमिश्नर मुकेश कुमार मीणा ने यह कहते हुए जानकारी देने से मना कर दिया था कि जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती ज्यादा ब्योरा नहीं दिया जा सकता.

लोगों ने किया विरोध, तो हुआ फरार
विजय चौक पर खड़े लोगों ने जब ड्रोन को मंडराते देख विरोध किया, तो ड्रोन उड़ाने वाला शख्स रहस्यमय तरीके से फरार हो गया. कई घंटों तक पता नहीं चल पाया कि यह ड्रोन यहां कैसे आया था और इसे उड़ाने वाला संदिग्ध कौन था.

पुलिस को जानकारी ही नहीं थी
गौर करने वाली बात यह है कि नो फ्लाइंग जोन में काफी देर तक एक ड्रोन मंडराकर चला गया और पुलिस को इसकी खबर तक नहीं लगी. पुलिस की एक टीम रात करीब पौने नौ बजे मौके पर पहुंची और जांच शुरू की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें