scorecardresearch
 

'आजतक', 'इंडिया टुडे' और 'तक' के न्यूज डायरेक्टर सुप्रिय प्रसाद को हिंदी अकादमी पत्रकारिता सम्मान

सुप्रिय प्रसाद को अकादमी ने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के क्षेत्र में उनके अमूल्य योगदान के लिए सम्मानित किया है. उन्हें दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पुरस्कार से नवाजा.

आजतक और इंडिया टुडे न्यूज चैनल के न्यूज डायरेक्टर सुप्रिय प्रसाद को सम्मान आजतक और इंडिया टुडे न्यूज चैनल के न्यूज डायरेक्टर सुप्रिय प्रसाद को सम्मान

'आजतक', 'इंडिया टुडे' और 'तक' के न्यूज डायरेक्टर सुप्रिय प्रसाद को प्रतिष्ठित 'हिंदी अकादमी पत्रकारिता सम्मान' से नवाजा गया है. अकादमी ने उन्हें इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के क्षेत्र में उनके अमूल्य योगदान के लिए सम्मानित किया है. उन्हें दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कमानी सभागार में आयोजित एक समारोह में सम्मानित किया.

सुप्रिय प्रसाद ने 1995 में 'आजतक' के साथ अपने करियर की शुरुआत की. यह वो दौर था जब इलेक्ट्रॉनिक मीडिया भारत के लिए नया था और किसी ठौर की तलाश में था. 1995 में दूरदर्शन पर मात्र 20 मिनट के शो से लेकर सन 2000 में 24x7 न्यूज चैनल तक 'आजतक' ने केवल 5 वर्षों में सफलता की लंबी यात्रा तय की है.

list_093019070350.jpgसम्मानित सदस्यों की लिस्ट

'आजतक' टीम के अहम सदस्य सुप्रिय प्रसाद कई साल से इस न्यूज चैनल की कमान संभाल रहे हैं. हिंदी पत्रकारिता जगत में 'आजतक' ने एक मशाल की भूमिका निभाई है जिसमें सुप्रिय प्रसाद का अहम योगदान है. हिंदी अकादमी पुरस्कार वास्तव में उनके लिए सम्मान की बात है.

ये भी पढ़ें:  कली पुरी 'इंडियाज मोस्ट पावरफुल वुमन इन मीडिया' अवॉर्ड से सम्मानित

हिंदी अकादमी ने दिल्ली एनसीआर के उन पत्रकारों, लेखकों, कवियों और अन्य साहित्यकारों को सम्मानित करने के लिए इस पुरस्कार की शुरुआत की है जो हिंदी के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं और निरंतर योगदान दे रहे हैं.

सम्मान के लिए आभार

इस सम्मान के लिए सुप्रिय प्रसाद ने हिंदी अकादमी का आभार जताया है. उन्होंने अकादमी को लिखे पत्र में कहा, 'आजतक चैनल के माध्यम से हिन्दी भाषा और साहित्य की सेवा करने का जो सुअवसर मुझे प्रदान हुआ है उसे हिन्दी अकादमी द्वारा सम्मानित करने के निर्णय का मैं ह्रदय से आभारी हूं. मैं इसे निजी नहीं 'इंडिया टुडे' और 'आजतक' संस्थान का सम्मान मानता हूं. 'आजतक' न केवल देश का नंबर वन चैनल है बल्कि इसे सर्वश्रेष्ठ भी आंका गया है. हिन्दी अकादमी का पत्रकारिता सम्मान 'आजतक' की खबरों की निष्पक्षता पर मुहर है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें