scorecardresearch
 

दिल्ली की सबसे चहेती CM रहीं शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि देने के लिए यहां कमेंट करें

अंतिम दर्शन के लिए शीला दीक्षित का पार्थिव शरीर उनकी बहन के घर पर रखा गया है. यहां देश के कई नेता उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे. देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दी. इसके अलावा सोनिया गांधी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, अरविंद केजरीवाल समेत कई नेताओं ने शीला दीक्षित के अंतिम दर्शन किए.

शीला दीक्षित (फाइल फोटो) शीला दीक्षित (फाइल फोटो)

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन हो गया. वह लंबे समय से बीमार थीं. उनका एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था. दोपहर 3 बजकर 5 मिनट पर उन्हें दिल का दौरा पड़ा था. इसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया. लेकिन 3 बजकर 55 मिनट पर उनका निधन हो गया.

(शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि देने के लिए यहां क्लिक करें)

अंतिम दर्शन के लिए शीला दीक्षित का पार्थिव शरीर उनकी बहन के घर पर रखा गया था. यहां देश के कई नेता उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे. देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दी. इसके अलावा सोनिया गांधी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, अरविंद केजरीवाल समेत कई नेताओं ने शीला दीक्षित के अंतिम दर्शन किए.

शीला दीक्षित गोल मार्केट विधानसभा से 1998 और 2003 से चुनी गईं. इसके बाद 2008 में उन्होंने नई दिल्ली क्षेत्र से चुनाव लड़ा. शीला दीक्षित के दो बच्चे हैं- संदीप दीक्षित और बेटी लतिका सैयद. संदीप दीक्षित कांग्रेस से सांसद रह चुके हैं. पहली बार 1998 में शीला दीक्षित दिल्ली की मुख्यमंत्री बनीं. इसके बाद लगातार 15 साल तक उन्होंने दिल्ली पर राज किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें