scorecardresearch
 

दुश्मनों पर होगा सटीक वार, K-4 बैलिस्टिक मिसाइल का दूसरी बार सफल परीक्षण

भारत ने विशाखापट्टनम के तट से 3500 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली K-4 बैलिस्टिक मिसाइल को पनडुब्बी से लॉन्च किया. इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने तैयार किया है.

K-4 बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण (फाइल फोटो- एएनआई) K-4 बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण (फाइल फोटो- एएनआई)

  • K-4 बैलिस्टिक मिसाइल का दूसरी बार परीक्षण
  • 3500 किलोमीटर है मिसाइल की मारक क्षमता

भारत ने एटमी हमला करने में सक्षम बैलिस्टिक मिसाइल का 6 दिनों के अंदर दूसरी बार सफल परीक्षण किया है. भारत ने शुक्रवार को विशाखापट्टनम के तट से 3,500 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली K-4 बैलिस्टिक मिसाइल को पनडुब्बी से लॉन्च किया.

पिछले छह दिनों में दूसरी बार भारत ने विशाखापट्टनम के तट से 3,500 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली K-4 बैलिस्टिक मिसाइल को पनडुब्बी से लॉन्च किया. इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने तैयार किया है.

यह भी पढ़ें: 3500 KM दूर हवा में ही खाक हो जाएगा दुश्मन, K-4 बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण

इससे पहले रविवार को आंध्र प्रदेश के तट से K-4 बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया. इस मिसाइल को भारतीय नौसेना के स्वदेशी आईएनएस अरिहंत-श्रेणी के परमाणु-संचालित पनडुब्बियों पर तैनात किया जाएगा.

पाकिस्तान ने भी किया परीक्षण

वहीं दूसरी तरफ गुरुवार को पाकिस्तान ने बैलिस्टिक मिसाइल गजनवी का सफल परीक्षण किया है. गजनवी मिसाइल 290 किमी के सीमा तक कई तरह के युद्धक प्रक्षेपास्त्र ले जाने में सक्षम है. सेना के बयान के मुताबिक लॉन्च आर्मी स्ट्रेटेजिक फोर्सेज कमांड के एक फील्ड ट्रेनिंग एक्सरसाइज का हिस्सा है, जिसका उद्देश्य दिन और रात के दौरान परिचालन तैयारी प्रक्रियाओं का अभ्यास है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें