scorecardresearch
 

मोहन भागवत बोले- गाय पालने वाले कैदियों की कम होती है अपराधी प्रवृत्ति

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने कहा कि गाय पालने वाले कैदियों की अपराधी प्रवृति कम होती है.

आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत (Courtesy- PTI) आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत (Courtesy- PTI)

  • पुणे में गोसेवा पुरस्कार समारोह को मोहन भागवत ने किया संबोधित
  • इससे पहले महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भागवत ने दिया था बयान

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने गाय और कैदियों को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि गाय पालने वाले कैदियों में तेजी से सुधार होता है. पुणे में गोसेवा पुरस्कार समारोह में लोगों को संबोधित करते हुए मोहन भागवत ने कहा, 'गाय को पालने वाले कैदियों की अपराधी प्रवृति कम होती है. यह वह अनुभव है, जो जेल के अधिकारियों ने हमें बताया है.'

आरएसएस सरसंघचालक भागवत का यह बयान उस समय सामने आया है, जब हैदराबाद और उन्नाव में गैंगरेप के बाद हत्याओं को लेकर देशभर में जबरदस्त आक्रोश है. साथ ही हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों के पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने की घटना को लेकर जोरदार बहस हो रही है.

कुछ लोग हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों के पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने पर जश्न मना रहे हैं और तेलंगाना पुलिस की तारीफ कर रहे हैं, जबकि कुछ लोग इसकी आलोचना कर रहे हैं. हैदराबाद में डॉक्टर दिशा की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी और फिर शव को जला दिया गया था. इसके बाद पुलिस ने मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने इन आरोपियों को क्राइन सीन रिक्रिएट करने के दौरान एनकाउंटर में मार गिराया था.

वहीं, उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को आरोपियों ने जिंदा जलाने की कोशिश की थी. इसमें पीड़िता 95 फीसदी तक जल गई थी. इसके बाद पीड़िता को पहले लखनऊ के अस्पताल और फिर बाद में दिल्ली के सफदरजंग में भर्ती कराया गया था. हालांकि पीड़िता को बचाया नहीं जा सका था.

इससे पहले मोहन भागवत ने हैदराबाद कांड का जिक्र किए बिना महिलाओं की सुरक्षा को लेकर बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि सरकार पर सब कुछ छोड़ देने से काम नहीं चलेगा, बल्कि बच्चों को घरों से ही शिक्षित करना होगा, ताकि महिलाओं को देखने का उनका नजरिया अच्छा हो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें