scorecardresearch
 

1962 में चीन के खिलाफ भारत की हार के लिए जवाहर लाल नेहरू थे जिम्मेदारः रिपोर्ट

1962 में चीन के खिलाफ युद्ध में भारत की शर्मनाक हार के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू जिम्मेदार थे. ऐसा दावा किया गया है कि हेंडरसन ब्रुक्स की रिपोर्ट में, जिसका ज्यादातर हिस्सा अभी तक भारत में सार्वजनिक नहीं हुआ था. रिपोर्ट के मुताबिक, नेहरू के अलावा उस वक्त के कई वरिष्ठ अधिकारी भी इस हार के लिए जिम्मेदार थे. भारत-चीन युद्ध हुए करीब 50 साल बीत गए हैं, पर रिपोर्ट अब सामने आई है.

X
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू

1962 में चीन के खिलाफ युद्ध में भारत की शर्मनाक हार के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू जिम्मेदार थे. ऐसा दावा किया गया है हेंडरसन ब्रुक्स की रिपोर्ट में, जिसका ज्यादातर हिस्सा अभी तक भारत में सार्वजनिक नहीं हुआ था. रिपोर्ट के मुताबिक, नेहरू के अलावा उस वक्त के कई वरिष्ठ अधिकारी भी इस हार के लिए जिम्मेदार थे. भारत-चीन युद्ध हुए करीब 50 साल बीत गए हैं, पर रिपोर्ट अब सामने आई है.

1962 भारत-चीन युद्ध पर बनी रिपोर्ट को ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार नेवल मैक्सवेल ने इंटरनेट पर जारी किया है. गौरतलब है कि मैक्सवेल 1962 की जंग के दौरान वॉर कॉरस्पॉन्डेंट थे. बताया जा रहा है कि इस रिपोर्ट में भारत की शर्मनाक हार पर विस्तृत ब्यौरा है.

आपको बता दें कि हेंडरसन ब्रुक्स की इस रिपोर्ट का ज्यादातर हिस्सा भारत में गोपनीय है. चौंकाने वाली बात यह है कि रिपोर्ट को उस दिन जारी किया गया है, जिस दिन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा चुनावों के प्रचार के लिए अरुणाचल प्रदेश जा रहे हैं. माना जा रहा है कि 50 साल बाद यह जंग एक बार चुनावी मुद्दा बन सकता है.

गौरतलब है कि बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने पहले ही इस रिपोर्ट को सार्वजनिक करने की मांग की थी. जिस पर रक्षा मंत्री ए. के. एंटनी ने संसद में कहा था कि कई संवेदनशील जानकारियों की वजह से इस रिपोर्ट को सावर्जनिक नहीं किया जा सकता है और इसमें दी गई जानकारियां मौजूदा सामरिक रिश्ते के लिहाज से भी अहम हैं. यह रिपोर्ट 1963 में तैयार की गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें